Gharkul

  • निधि नहीं मिलने से लाभार्थियों की मुश्किलें बढ़ी

भंडारा. जिले में बड़े पैमाने पर रमाई आवास योजना, प्रधानमंत्री घरकुल योजना के तहत आवास दिलाने का आश्वासन भले ही लोगों को दिया गया हो, लेकिन भंडारा जिले के लाभार्थियों को 6 महीने से निधि नहीं देने से योजनाओं के तहत बनाए जाने वाले घरों का निर्माण कार्य अधर में लटक गया है. घरकुल योजना के तहत घरों के निर्माण हेतु निधि उपलब्ध कराने की मांग भंडारा तहसील कांग्रेस उपाध्यक्ष मंगेश हुमणे ने जिलाधिकारी को भेजे गए ज्ञापन में की है.

6 महीने से कर रहे इंतजार
जिलाधिकारी को भेजे गए ज्ञापन में कहा गया है कि वर्ष 2022 तक सबको को घर का नारा केंद्र सरकार ने दिया है. पिछले 6 महीने से लाभार्थियों को निधि वितरित नहीं करने की वजह के इस योजना के तहत बनाए जाने वाले घरों का निर्माण कार्य थम गया है. लाभार्थी पंचायत समिति के कार्यालय में निधि के लिए चक्कर लगा रहे हैं. जब लाभार्थी निधि के लिए पंस के कार्यालय में पहुंचते हैं, तो अधिकारी नदारद रहते हैं और जब अधिकारी कार्यालय में रहते हैं तो लाभार्थियों का कोई अता-पता नहीं रहता.

आंदोलन की दी चेतावनी
केंद्र सरकार की ओर से घरकुल योजना के लिए तय की गई निधि राज्य सरकार के पास भेजी जाए, ताकि घरकुल योजना का बंद पड़ा काम फिर से शुरू हो सके. ज्ञापन के माध्यम से चेतावनी दी गई है कि अगर शीघ्र निधि उपलब्ध नहीं कराई गई तो कांग्रेस की ओर से आंदोलन किया जाएगा.