आप की आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं

साल था 1973 ।  रेखा और विनोद मेहरा की फिल्म ‘घर’  की शूटिंग के दौरान इनके रिश्तों की खबरें छपने लगी थी। रेखा ने विनोद मेहरा के साथ अपने रिश्तों को कभी नहीं छुपाया। रेखा और विनोद मेहरा दोनों सेट पर हमेशा साथ रहते। शूटिंग के अलावा भी इनकी मुलाकातें होती रहती थी । कहते हैं विनोद मेहरा और रेखा एक दूसरे के प्यार में इस कदर थे कि दोनों ने गुपचुप शादी भी कर ली थी।

मीडिया में रेखा और विनोद की इस अनजानी शादी की खबरें खूब छपी। बताया जाता है कि विनोद मेहरा और रेखा की शादी 2 महीने से ज्यादा चल ना सकी। कहते है विनोद मेहरा की मां को रेखा एक बहू के तौर पर पसंद नहीं थी । शादी के बाद जब विनोद मेहरा रेखा को लेकर अपनी मां के पास गए थे तो उन्होंने रेखा को घर में घुसने नहीं दिया। चप्पल से रेखा की पिटाई कर दी थी । विनोद मेहरा ने बीच बचाव की कोशिश की लेकिन मां के गुस्से के आगे वो नाकाम रहे। इसके बाद जब रेखा ने विनोद मेहरा से मां और प्यार में से किसी एक को चुनने को कहा तो विनोद मेहरा ने मां को चुनना बेहतर समझा। रेखा सदैव की तरह प्यार को तरसती ही रह गयी। आज बात उन्ही रेखा की।

रेखा। भानुरेखा गणेशन। मद्रास की एक लड़की । जिसे बाप ने नहीं कबूला। इंडस्ट्री ने शुरुआत में भद्दा कहा। एक्टर्स ने इश्क की खाल में इस्तेमाल किया। फिर छोड़ दिया। जिसे पूरी जिंदगी दूसरी औरत कहा और माना गया। मर्दखोर कहा गया। रेखा के कई किस्से हैं यहां। मगर आज इतना ही।

कारण कि 10 अक्टूबर 1954 को जन्मी बॉलीवुड की सुपरस्टार और सदाबहार एक्ट्रेस रेखा आज अपना 66वां जन्मदिन मना रही हैं। उन्हें जन्मदिन की हार्दिक बधाई । आज सुनिये रेखा और विनोद मेहरा पर फिल्माया गया फ़िल्म “घर” का यह सुपर डुपर हिट गाना । आवाजें लता मंगेशकर और किशोर कुमार की । संगीत आर डी बर्मन का । बोल गुलज़ार के ।

लब हिले तो मोगरे के फूल खिलते हैं कहीं  

आप की आँखों में क्या साहिल भी मिलते हैं कहीं

आप की खामोशियाँ भी आप की आवाज़ हैं……

आप की आँखों में कुछ महके हुए से राज़ है

आप से भी खूबसूरत आपके अंदाज़ हैं

आप की आँखों में कुछ महके हुए से राज़ है ……

 

हैप्पी बड्डे रेखा जी !!!!!

सुधांशु टाक