usha-mangeshkar-received-the-anthem-lata-mangeshkar-honor-on-the-birthday-of-her-elder-sister

महाराष्ट्र सरकार ने सोमवार को वरिष्ठ गायिका उषा मंगेशकर (Usha Mangeshkar) को वर्ष 2020-21 का ‘गानसम्राज्ञी लता मंगेशकर' पुरस्कार देने की घोषणा की।

मुंबई. महाराष्ट्र सरकार ने सोमवार को वरिष्ठ गायिका उषा मंगेशकर (Usha Mangeshkar) को वर्ष 2020-21 का ‘गानसम्राज्ञी लता मंगेशकर’ पुरस्कार देने की घोषणा की। इस पुरस्कार में पांच लाख रुपये नकद और प्रशस्ति पत्र दिए जाते हैं। इसकी स्थापना वरिष्ठ कलाकारों और उनके योगदान को सम्मानित करने के लिए की गयी थी। उल्लेखनीय है कि सोमवार को ही उषा की बड़ी बहन लता मंगेशकर (lata Mangeshkar) का जन्मदिन है।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार 84 वर्षीय उषा मंगेशकर (Usha Mangeshkar) का चयन राज्य के संस्कृति मंत्री अमित देशमुख की अध्यक्षता वाली समिति ने सर्वसम्मति से किया। उषा मंगेशकर ने अपने करियर की शुरूआत 1954 में वी शांताराम की फिल्म “सुबह का तारा” के गाने “बड़ी धूम धाम से मेरी भाभी आयी” से की थी। बाद में उनके कई गाने काफी लोकप्रिय हुए।

इसमें दिलीप कुमार-मीना कुमारी अभिनीत फिल्म “आज़ाद” का गाना ‘‘ अपलम चपलम” और बासु चटर्जी की फिल्म “खट्टा मीठा” का शीर्षक गीत शामिल हैं। फिल्म “इनकार” का गाना “मुंगडा” भी काफी पसंद किया गया। वर्ष 1975 की हिट फिल्म “जय संतोषी माँ” के भक्ति गीतों के लिए उन्हें विशेष प्रशंसा मिली।

विज्ञप्ति के अनुसार 1992 से राज्य सरकार यह पुरस्कार प्रदान कर रही है और अब तक यह सम्मान लता मंगेशकर की बहन आशा भोसले, सुमन कल्याणपुर, संगीतकार राम-लक्ष्मण, उत्तम सिंह और उषा खन्ना को दिया गया है।