14 परिवार को स्वतंत्रता के बाद पहली बार मिला राशन कार्ड

    खामगांव. पेट की भूख को मिटाने के लिए मजदूरी कर गांव–गांव भटकने वाले एवं जड़ी बुटी बेचकर अपना जीवनयापन करनेवाले बोरी अड़गांव के उन 14 परिवार को खामगांव के आपूर्ति विभाग की ओर से हाल ही में राशन कार्ड का वितरण किया गया. स्वतंत्रता के बाद पहली बार राशन कार्ड मिलने की खुशी उनके चेहरे पर नजर आ रही थी. इन परिवारों को राशन कार्ड के संदर्भ में जिलाधिकारी ने सूचना दी थी.

    खामगांव एसडीओ ने तहसीलदार के सहयोग से जडी बुड़ी बेचने वाले 14 परिवार को राशनकार्ड दिलवाने में प्रयास किए. तहसील के बोरी अड़गांव शिवार में विगत कई सालों से जड़ी बुटी बेचकर अपना घर चलानेवाले कुछ परिवार स्थायी हुए हैं. गांव गांव में घूमने वाले यह परिवार अस्थायी होने से उनके पास रहने को जगह नहीं थी. जिस कारण से वह सभी सरकारी योजनाओं वंचित थे.

    जिलाधिकारी एस.राममूर्ति यह विगत 18 फरवरी को तहसील के बोरी अड़गांव, पिंप्री मोहदरी एवं कारेगांव शिवार में पौधारोपन के लिए सरकारी जमीन का मुआयना करने के लिए गए थे. उस समय उनकी इस परिसर में रहनेवाले एवं जड़ी बुटी बिक्री करने वाले नागिरकों की भेंट हुई. उस वक्त जिलाधिकारी ने उनकी समस्याएं सुनी. इस अवसर पर उप विभागीय अधिाकरी राजेंद्र जाधव तहसीलदार डा.शीतल रसाल उपस्थित थी.

    इस समय जिलाधिकारी एस.राममूर्ति ने उप विभागीय अधिकारी जाधव को इन जड़ी बुटी बेचने वालों के लिए राशन कार्ड बनाने की सूचना दी थी. उस पर अमल करते हुए एसडीओ जाधव ने तहसीलदार रसाल एवं आपूर्ति विभाग के  निरीक्षण अधिकारी विशाल भगत से चर्चा कर राशनकार्ड बनाने के लिए शुरूवात की.

    तदअनुसार आपूर्ति विभाग ने बोरी अड़गांव निवासी उक्त लोगों के आधार कार्ड ऑनलाइन चेक किए, जिसमें 14 लोगों को देश में किसी भी जगह राशन कार्ड लिंक नजर नहीं आया, पश्चात अड़गांव के सरपंच, पुलिस पाटिल के दाखले एवं आधार कार्ड सबूत के लिए 14 परिवार के राशन कार्ड तैयार किए गए.

    राशन कार्ड में के सभी के नाम अड़गांव के राशन दुकानदार पी.वी. बोहरपी के सस्ते अनाज दूकान से जोड़े गए हैं. तहसीलदार शीतल रसात के मार्गदर्शन में आपूर्ति निरीक्षण अधिकारी विशाल भगत एवं उनके सहयोग ने राशन कार्ड बनाने के लिए प्रयास किए गए.

    जड़ी बुटी बेचने वाले इन 14 परिवारों का समावेश

    बिरजू बाबूसिंग चितोड़िया, धरमसिंग हरिसिंग चितोड़िया, पारसी चितोड़िया, विजय चितोड़िया, प्रेमसिंग राजपूत, बाबूसिंग चितोड़िया, धरमवीर चितोड़िया, जीतेंद्र चितोड़िया, पकोड़ी चितोड़िया, राजू चितोड़िया, कतारसिंग चितोड़िया, अमरसिंग चितोड़िया, राजू चितोड़िया, कुमसिंग चितोड़िया इन जड़ी बुटी बेचने वाले परिवार को राशन कार्ड दिए गए हैं.

    अनाज देने का प्रयास

    जिलाधिकारी की सूचना पर अड़गांव के जड़ी बुटी बेचने वाले 14 परिवार को खामगांव आपूर्ति विभाग व्दारा आवश्यक दस्तावेजों की पूर्ति कर राशनकार्ड वितरण किए गए हैं. इन परिवारों को भविष्य में अनाज देने के लिए प्रयास रहेगा.-राजेंद्र जाधव, उप विभागीय अधिकारी