16.1 lakh quintals Bought cotton, bought a record of white gold

बुलढाना. जिले में कोरोना संकट को रोकने के लिए लॉकडाउन की स्थिति है. इसके साथ ही बारिश भी शुरू है. फिर भी सरकार ने किसानों से कपास खरीदी कर उन्हें राहत  देने का कार्य किया है. कपास पणन महासंघ व भारत कपास निगम के माध्यम से बुलढाना जिले में 51,409 किसानों से 16,01,548 क्विं. कपास की रिकार्ड खरीदी की गई.  कोरोना संकट से पूर्व ही सरकार द्वारा कपास खरीदी शुरू कर दी गई थी. बाद में कोरोना संकट के चलते स्थिति बदल गई, कपास खरीदी रुकी लेकिन सरकार ने व्यवस्था को संभालते हुए फिर कपास खरीदी शुरू की. 

पिछले 10 वर्षों की तुलना में सबसे अधिक खरीदी
कोरोना संकट के पूर्व कपास पणन महासंघ द्वारा जिले में 5,899 किसानों से 2,36,095 क्विंटल कपास खरीद लिया था. इसी समय सीसीआई द्वारा 32,303 किसानों से 9,76,665 क्विंटल कपास की खरीदी की गई. कोरोना संकट के समय किसानों को राहत देते हुए कपास पणन महासंघ ने 5,856 किसानों का 1,55,406 क्विंटल कपास खरीदा और सीसीआई ने 7,351 किसानों से 2,33,381 क्विंटल कपास खरीदा. इस तरह दोनों समय कपास पणन महासंघ ने 11,755 किसानों से 3,91,502 क्विं. कपास खरीदा. इसी तरह भारतीय कपास निगम ने 39,654 किसानों से 12,10,046 क्विं. कपास खरीदा. कुल मिलाकर कोरोना संसर्ग व बारिश के समय में कुल 51,409 किसानों से 16,01,548 क्विं. कपास की रिकार्ड खरीदी की गई.

-FAQ कपास भी खरीदा जाएगा
 निजी व्यापार में दाम कम मिलने के कारण किसानों का रुझान सरकारी खरीदी केंद्र पर अधिक रहा. सरकार ने पिछले 10 वर्षों में इस वर्ष सबसे अधिक कपास खरीदा है. सीसीआई द्वारा कहा गया है कि 30 सितंबर 2020 तक एफएक्यू क्वालिटी के कपास खरीदी जाएगी. जिन पंजीकृत किसानों के पास यह कपास है, उनसे कपास खरीदा जाएगा.