कांग्रेस-भाजपा अब विदर्भ छोड़ो

बुलढाना. पृथक विदर्भ के मुद्दे पर भाजपा और कांग्रेस दोनों हीपाटियों ने विदर्भ की जनता के साथ धोखाधड़ी की है, जिससे विदर्भ की जनता आज भी पिछड़ी हुई है. 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस और

बुलढाना. पृथक विदर्भ के मुद्दे पर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पाटियों ने विदर्भ की जनता के साथ धोखाधड़ी की है, जिससे विदर्भ की जनता आज भी पिछड़ी हुई है. 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस और भाजपा पृथक विदर्भ राज्य का निर्माण करें या विदर्भ से चलते बनें, ऐसी चेतावनी विदर्भ राज्य आंदोलन समिति के प्रमुख एड. वामनराव चटप ने पत्र परिषद में दी है.
 
विदर्भ राज्य आंदोलन समिति की पहल से पृथक विदर्भ की मांग करने वाली विभिन्न पार्टियों और संगठनों की ओर से 2 जनवरी से पूरे विदर्भ में निर्माण यात्रा का आयोजन किया जा रहा है. यह यात्रा बुलढाना में पहुंचने पर स्थानीय विश्राम भवन में पत्र परिषद का आयोजन किया गया. इस समय एड. चटप बोल रहे थे. इस पत्र परिषद को घनश्याम पुरोहित, रंजना मामर्डे, एड. सुरेश वानखडे, दामोदर शर्मा, तेजराव मुंडे, नामदेवराव जाधव उपस्थित थे.

उन्होंने कहा कि, वैदर्भीय जनता में पृथक विदर्भ को लेकर जनजागृति करने के लिए विदर्भ निर्माण यात्रा का आयोजन किया गया है. पूरे विदर्भ में 10 तहसीलों में विदर्भ राज्य नवनिर्माण मंच का एजेंडा इसके माध्यम से पहुंचाया जा रहा है. 2 जनवरी से शुरू हुई इस यात्रा का 12 जनवरी को समापन किया जाएगा.

 
विदर्भ की जनता का दु:ख भूल गए CM
चटप ने कहा कि, कांग्रेस तथा भाजपा दोनों ने ही विदर्भ की जनता के साथ धोखाधड़ी की है. भाजपा ने तो 2014 के चुनावों में पृथक विदर्भ के मुद्दे पर ही जनता का बहुमत हासिल किया था. लेकिन अब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कहते हैं कि, विदर्भ का मुद्दा इस समय हमारे एजेंडे पर नहीं है. चटप ने आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले चार वर्षों से महाराष्ट्र में विदर्भ के मुख्यमंत्री काम कर रहे हैं. लेकिन आज भी ज़मीनी तौर पर विदर्भ का अनुशेष कम नहीं हुआ है. हालांकि, राज्य के मुख्यमंत्री और वित्तमंत्री विदर्भ के है, लेकिन आज वे विदर्भ की जनता के दुख-दर्द भूल गये हैं. वास्तविक तौर पर वे विदर्भ के सुपुत्र है ही नहीं. 2019 से पहले पृथक विदर्भ दें, या तो विदर्भ छोड़े ऐसी चेतावनी भी उन्होंने इस समय भाजपा के नेताओं को दी.

जनता के समर्थन से लेंगे विदर्भ चुनावों के संदर्भ में बोलत हुए चटप ने बताया कि, विदर्भ नवनिर्माण मंच में 4 विदर्भ समर्थक संगठन तथा 5 पार्टियों को एकत्रित किया गया है. यह मंच आने वाले चुनावों में लोकसभा की 10 सीटें तथा विधानसभा की 62 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगी. उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि हम जनता के समर्थन से ही अब विदर्भ लेकर रहेंगे.