रेत तस्करों की मनमानी से नागरिक हलाकान, बीच रास्ते में ही रेत डाल कर फरार हुआ ट्रैक्टर

    संग्रामपुर. संग्रामपुर तहसील के मध्य में स्थित ग्राम वरवट बकाल में रविवार की सुबह कृष्णा टावर के सामने तहसीलदार तेजस्वी कोरे यह उपस्थित थी. इस दौरान एक रेत तस्कर राणे ट्रैक्टर में रेत लेकर वरवट बकाल बस स्थानक से संग्रामपुर की ओर जा रहा था. तहसीलदार को देखते ही उसने तहसीलदार को कट मारकर वरवट बकाल गांव से ट्रॅक्टर लेकर फरार हो गया. उसका तहसीलदार ने पीछा करने पर ट्रैक्टर चालक ने हायड्रोलिक उपर कर उक्त ट्रैक्टर में रखी रेत रास्ते पर ही गिरा दी. जिससे गुस्सा हुए ग्रामवासियों ने उक्त ट्रैक्टर को रोखकर टायरों की हवा छोड़ दी.

    इसके बावजूद ट्रैक्टर चालक ट्रक्टर भगाकर ले जाने में सफल रहा. तब तहसीलदार वहां आने के बाद ग्रामवासियों ने उन्हें बाते सुनाते हुए ऐसे अवैध रेत तस्कर को अभय किस के कारण दिया जा रहा है. आदि सवालों की बौछार की. उसी तरह संग्रामपुर तहसील में अवैध गौण खनीज को रखने के लिए नियुक्त किए दस्ते एवं कुछ अधिकारियों का अवैध गौण खनीज ढुलाई करने वाले माफियों के साथ आर्थिक हितसंबध होने के कारण ही उक्त रेत तस्करों की हिंमत बढ़ गई हैं, ऐसा नागरिकों का कहना था.

    रिंगण वाडी के नदीपात्र से प्रतिदिन रात के समय अवैध रूप से रेत की अवैध यातायात करने वाले टिप्पर ट्रैक्टर तेज गति से वरवट बकला बस स्थानक से जाते हैं. इसकी अनेदखी उक्त दस्ते द्वारा क्यों की जा रही है. ऐसा सवाल भी नागरिकों ने इस समय तहसीलदार के सामने उपस्थित किया. विगत 15 दिनों पहले एक मामले में अज्ञात टिप्पर ने रास्ते पर ही गाड़ी खाली करने के कारण रास्ते पर रेत का ढेर लगा हुआ था.

    जिस कारण वरवट बकला के पांडूरंग ढगे की उक्त रेत के ढेर पर से दुपहिया दुर्घटनाग्रस्त होने से इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी. आज उसी गांव में इस प्रकार दोबारा रेत बिखरी हुई देख नागरिकों व्दारा तीव्र रोष व्यक्त किया जा रहा था. इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी वाहन मालिक एवं चालक के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई, जिस कारण नागरिकों व्दारा आचार्य व्यक्त किया जा रहा है.

    संग्रामपुर की तहसीलदार तेजस्वी कोरे पर अवैध रेत तस्कारों पर कारवाई न करने के संदर्भ में वरिष्ठ अधिकारियों व्दारा दबाव तो लाया गया, यह सवाल इस समय उपस्थित हो रहा हैं. साथ ही इस संदर्भ में वरवट बकाल के नागिरकों में चर्चाएं चल रही हैं. संग्रामपुर तहसील के अवैण गौण खनीज की ढुलाई करने वालों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाए, यह मांग इसके पहले भी भोजने एवं उनके सहयोगी ने तामगांव पुलिस थाने में तथा तहसीलदार से एक निवेदन के माध्यम से की हैं. लेकीन आज तक उक्त निवेदन की दखल नहीं ली गई है.