nana patole
File Photo

    बुलढाना. कोरोना की दूसरी लहर के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव प्रचार में लिप्त थे. उस काल में हजारों लोगों की कोरोना से मौत हुई. इस महामारी से निपटने के लिए केंद्र सरकार के पास कोई भी नियोजन नहीं है. अभी भी केंद्र सरकार की आंख नहीं खुल रही है. यह विचार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नाना पटोले ने प्रकट किए. वे बुलढाना जिले के मेहकर और चिखली के दौरे के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे.

    उन्होंने कहा कि एक तो केंद्र सरकार ने जिम्मेदारी नहीं निभाई उस पर प्रधानमंत्री महोदय ने यह जिम्मेदारी राज्य सरकार पर डाल दी. जबकि महाराष्ट्र में कांग्रेस ने अगुवाई करते हुए आयसोलेशन सेंटर खोले, ऑक्सीजन प्लांट शुरू किए, लोगों की मदद की. राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार कोरोना का प्रसार रोकने में पूरी तरह सफल रही. मोदी सरकार ने आत्मनिर्भर बनो का नारा देते हुए अपनी जिम्मेदारियों से हाथ झटक लिए.

    मराठा आरक्षण के विषय में उन्होंने कहा कि आरक्षण का मुद्दा अब केंद्र सरकार के अधीन है. मोदी सरकार ने गायकवाड़ समिति की सिफारिश के अनुसार मराठा आरक्षण लागू करना चाहिए. इस अवसर पर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल बोंद्रे, विधायक राजेश एकड़े, पूर्व विधायक दिलीपकुमार सानंदा, हर्षवर्धन सपकाल, जि.प.अध्यक्ष अनीता पवार, श्याम उमालकर, नाना गावंडे, लक्ष्मणराव घुमरे प्रमुखता से उपस्थित थे.