corruption

    • दोनों रंगेहाथ गिरफ्तार

    खामगांव. प्लाट का सातबारा पंजीयन करने तथा फेरफार की नकल देने के लिए शराब, मटण की पार्टी सहित 10 हजार रू. के रिश्वत की मांग करनेवाले मंडल अधिकारी और पटवारी को बुलढाना एसीबी के दस्ते ने 28 मई की रात चल रही पार्टी दौरान रंगेहाथ गिरफ्तार किया हैं. राजस्व विभाग में इस कारवाई के कारण खलबली मची हैं. एंटी करप्शन ब्यूरो से मिली जानकारी के अनुसार खामगांव तहसील के शिर्ला नेमाने निवासी 42 वर्षीय शिकायतकर्ता ने बुलढाना एसीबी में शिकायत दर्ज की थी.

    शिकायत में कहा गया है कि लाखनवाडा में कार्यरत मंडल अधिकारी विलास खेडेकर (52) निवासी गजानन कालोनी खामगांव तथा शिर्ला नेमाने में कार्यरत पटवारी बाबुराव मोरे (86) निवासी किन्ही महादेव खामगांव ने शिकायतकर्ता के भाई के नाम से खरीदी किए गए प्लाट का पंजीयन सातबारा पर करने को लेकर तथा फेरफार की नकल देने के लिए 10 हजार रू. के साथ साथ शराब मटण पार्टी की मांग की थी.

    उसी तरह 10 हजार रू. इसके पहले ही ले लिए गए, ऐसी शिकायत प्राप्त होने के बाद बुलढाना एसीबी ने जाल बिछाकर 28 मई की रात खामगांव तहसील के पिंप्री धनगर शिवार के प्रल्हाद चव्हाण के खेत की झोपड़ी के सामने मंडल अधिकारी विलास खेडेकर तथा पटवारी बाबुराव मोरे इन दोनों को शराब तथा मटण पर ताव मारते एवं मेजवानी के स्वरुप में अनुचित लाभ लेते गिरफ्तार किए गए हैं. इस समय दस्ते ने खेत से दो शराब की बोतले एवं मांसाहारी भोजन पदार्थ जब्त किया गया.

    इस कार्रवाई के कारण राजस्व विभाग में खलबली मची हैं. यह कार्रवाई बुलढाना एसीबी के पुलिस उप अधीक्षक संजय चौधरी के नेतृत्व में पुलिस निरीक्षक सचिन इंगले, पुलिस नाईक, विलास साखरे, प्रवीण बैरागी, मोहम्मद रिजवान, विनोद लोखंडे, अजरुद्दीन काजी, चालक नितिन शेटे, शेख अर्शद ने की हैं.