Baby girl dies in leopard attack
File photo

संग्रामपुर. तहसील में तेंदुए के डर के कारण किसान व मजदूर खेतों में जाने से कतरा रहे है. जिससे खेती के कार्य प्रभावित हो रहे हैं. वन विभाग के अधिकारी व कर्मी इस ओर ध्यान देकर तेंदुए का बंदोबस्त करने की मांग किसानों और मजदूरों की ओर से की जा रही है. तहसील के कवठल परिसर और भोन रास्ते पर रविवार की सुबह ग्रामीण व वाहन चालकों को तेंदुआ दिखाइ दिया.

पिछले कुछ दिनों से इस परिसर में तेंदुए का मुक्त संचार हो रहा है. मारोड शिवार में भी तेंदुआ होने की बात बतायी जाती है. जिससे किसान व मजदूरों में डर निर्माण होने से वे खेतों में जाने से कतरा रहे है. फिलहाल खेतों में कपास चुनने का कार्य तथा चना, प्याज, गेहूं की फसल को पानी देने का काम चल रहा है. लेकिन तेंदुए के डर से इस काम में रूकावट आयी है. वनविभाग तेंदुए का बंदोबस्त करे, यह मांग भोन के पूर्व सरपंच महादेव उन्हाले पाटिल सहित किसानों ने की है.