State expert teams should be constituted for proper care of covid-19 patients in hospitals: Court

    खामगांव. कोविड 19 के लक्षण एवं परेशानी होनेवाले कोरोना पाजिटिव मरीज के लिए होम आयसोलेशन सुविधा बंद की जा रही है. अब ग्रामीण परिसर के मरीजों को गांव के स्कूल एवं अन्य उपलब्ध सुविधाओं की जगह आयसोलेट किया जाएगा. शहर के मरीजों को पहले जैसे घाटपुरी कोविड सेंटर एवं पॉलिटेक्निक कॉलेज होस्टल जलंब मोड, महिलाओं को पंचशील धर्मांर्थ अस्पताल स्कूल क्र.6 समीप इस जगह आयसोलेट रहेगें. ऐसा नियोजन प्रशासन ने किया है. भविष्य में मरीजों संख्या बढ़ने पर और पांच स्थान खोजे गए हैं.

    ग्रामीण परिसर में मरीजों ने अपने खुद के सोने के लिए सामग्री एवं परिवार के सदस्य उनका भोजन का डिब्बा पहुंचाएंगे. सेंटर पर पानी, लाईट, साफ सफाई की व्यवस्था ग्राम पंचायत की ओर से तथा शहर में नगर पालिका की ओर होगी. संबंधित गांवों की आशा वर्कर मरीजों का रजिस्टर में नियमित पंजीयन कर उनका रेग्युलर चेकअप करेगें. कुछ दिक्कत होने पर मरीजों को खामगांव एसडीएच को रेफर किया जाएगा.

    मरीज को स्कूल में पहुंचाने के लिए जिम्मेदारी ग्राम समिति सदस्य तो शहर में कर्मचारी टीम नियुक्त की जाएगी. मरीज ने मना करने पर उस गांव के बिट जमादार, पुलिस के मदत लेकर मरीज को सेंटर पर पहुंचाया जाएगा. उक्त मामले में अन्य कर्मचारी वर्ग की भी डयूटी लगाई जाएगी. उसके आदेश ग्रामीण परिसर के लिए बीडीओ तो शहर परिसर के लिए नप सीओ व्दारा निकाला जाएगा.

    इस काम के लिए सभी नागरिक सहयोग करें, यह मरीज सहित उसके परिवार के हीत में होकर पाजिटिव मरीज उक्त जगह आयसोलेशन में रहें. मतलब परिवार एवं अन्य लोगों का संपर्क नहीं होगा, जिससे कोरोना को रोका जा सकेगा. यह सूचना जिलाधिकारी ने लागू की हैं. इस अवसर पर दानशुर लोगों ने आगे आकर अपने परिसर के गांव के आयसोलेशन सेंटर के लिए आवश्यक सहयोग करें, यह आहवान उप विभागीय अधिकारी राजेंद्र जाधव ने किया हैं.