Mother accused of killing one and half year old son

चिखली. चिखली शहर के समीप चिखली पुलिस स्टेशन अंतर्गत आनेवाले ग्राम भालगांव में घर में बंधी हुई रस्सी के साथ खेलते हुए फांसी लग जाने से एक ग्यारह वर्षीय छात्रा की दर्दनाक मौत होने की घटना रविवार की देर

चिखली. चिखली शहर के समीप चिखली पुलिस स्टेशन अंतर्गत आनेवाले ग्राम भालगांव में घर में बंधी हुई रस्सी के साथ खेलते हुए फांसी लग जाने से एक ग्यारह वर्षीय छात्रा की दर्दनाक मौत होने की घटना रविवार की देर शाम सामने आने से जिले भर में खलबली मच गयी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार जालना जिले के ग्राम वानखेड़ के मूल निवासी गजानन आमले 5 वर्ष पूर्व भालगांव में ससुराल का मकान खरीद कर रह रहे थे. उनकी पत्नी यह खेती में मजदूरी का काम करती है. घटना के दिन दोनों पति-पत्नी खेत में मजदूरी करने गए हुए थे. उस वक्त घर में अपने छोटे भाई हर्षल के साथ शीला यह छत से लगे हुए नाट से बंधी रस्सी के साथ खेल रही थी.

इस बीच अचानक शिला के गले को फांसी लग गयी और उसकी मौत हो गई. शीला यह गांव के ही जिला परिषद शाला में कक्षा 6वीं में थी. सूचना मिलते ही चिखली पुलिस स्टेशन के पुलिस उप निरीक्षक पंढरी मिसाल, पुलिस हे.कांस्टेबल राजेंद्र काले, पु.ना. गोरखनाथ राठोड़, पु. सि. पंढरी मिसाल, पु.कां. पु.का. सुनीता इंगले ने घटनास्थल पहुंचकर कर पंचनामा किया और बालिका का शव पोस्टमार्टम हेतु चिखली के सरकारी अस्पताल में रवाना किया. घटना के बाद मृतक लड़की के मामा अनिल इंगले ने चिखली पुलिस में फरियाद दर्ज की गयी है. जिसके बाद पुलिस ने आकस्मिक मौत का मामला दर्ज किया है.

– अस्पताल में पहुंचे पुलिस के आला अधिकारी

11 वर्षीय छात्रा की मौत की खबर पूरे जिले में फैलने की वजह से परिसर समेत जिले भर में खलबली मच गयी थी. घटना कि गंभीरता देख देर रात जिला पुलिस अधीक्षक डा.दिलीप पाटिल भुजबल अपने महकमें के साथ अस्पताल पहुंचे थे. सरकारी चिकित्सा अधिकारियों से व जांच अधिकारियों से घटना की पूरी जानकारी लेने के बाद उन्होंने कहा कि, बच्ची की मौत के बाद जिस तरह की अफवाहें फैल रही है वह सब निराधार है. बच्ची की मौत हैंगिग की वजह से होने की बात उन्होंने कही. वहीं पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सा अधीक्षक डा.खान ने प्राथमिक जानकारी देते हुए कहा कि, बच्ची की मौत हैंगिग की वजह से ही हुई है. किसी तरह के गलत निशान और बातें सामने नहीं आयी है. स्थानीय पुलिस ने भी घटना को काफी गंभीरता से लिया. अवकाश पर गये हुए चिखली पुलिस के पुलिस उप निरीक्षक गुलाबराव वाघ भी देर रात अस्पताल पहुंचे.चिकित्सा अधिकारी द्वारा व जिला पुलिस अधीक्षक डा.भुजबल ने जब बच्ची की मौत की वजह हैंगिंग बताकर कोई अप्रिय घटना न होने की जब बात कही, तब कहीं जाकर माहौल शांत हुआ. जिसके बाद बालिका का शव भालगांव ले जाया गया. जहां देर रात उसका अंतिम संस्कार किया गया.