19,000 किसानों को फसल बीमा की प्रतीक्षा

बुलढाना. मेहकर उप विभाग के तहत आने वाले 19 हजार 65 किसानों ने सोयाबीन, मक्का व ज्वार फसल की बुआई 19 हजार 948 हेक्टेयर पर की थी. लेकिन अब तक उक्त किसानों को फसल बीमे का लाभ न मिलने से इन किसानों को

बुलढाना. मेहकर उप विभाग के तहत आने वाले 19 हजार 65 किसानों ने सोयाबीन, मक्का व ज्वार फसल की बुआई 19 हजार 948 हेक्टेयर पर की थी. लेकिन अब तक उक्त किसानों को फसल बीमे का लाभ न मिलने से इन किसानों को फसल बीमा की प्रतिक्षा है.

इस वर्ष वापसी की बारीश ने खरीफ की फसल का बड़े प्रमाण में नुकसान किया है जिससे किसानों पर आर्थिक संकट आ पड़ा है. राज्य सहित जिले भर में शतप्रतिशत किसानों के हाथों से फसल पूरी तरह निकल गयी है. उक्त हुए नुकसान का जायजा कर प्रशासकीय अधिकारी व कर्मचारियों ने वरिष्ठ अधिकारियों को अह्वाल की रिपोर्ट भेजने के पश्चात अब तक किसानों को फसल बीमे का लाभ नहीं मिला है. अभी भी इस क्षेत्र के किसान बीमे की लाभ से वंचित है.

कंपनियों के खिलाफ आक्रोश

साथ ही समय पर फसल बीमा की रकम न मिलने के कारण किसानों में बीमा कंपनियों के विरोध आक्रोश निर्माण होता दिखाई दे रहा है. किसानों को बीमा की रकम कब तक मिलेंगी, इस बात की प्रतिक्षा में मेहकर उप विभाग के किसान बैठे हुए हैं. इसलिए सभी स्तर से किसानों को बीमा की रकम का लाभ तत्काल देने की मांग जिप सदस्य राजेंद्र पलसकर व पंचायत समिति सदस्य निंबाजी पांडव, सुरेश अप्पा फिसके ने की है.