24 को नागरिकत्व सुधारणा विधेयक के समर्थन में  एकता मोर्चा

चिखली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने हाल ही में नागरिकत्व संशोधन विधेयक को संसद में पारित किया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हस्ताक्षर के बाद यह देश में लागू हो गया है. इस कानून

चिखली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने हाल ही में नागरिकत्व संशोधन विधेयक को संसद में पारित किया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हस्ताक्षर के बाद यह देश में लागू हो गया है. इस कानून के समर्थन के लिए राष्ट्रप्रेमी नागरिक समिति की ओर से मंगलवार 24 दिसंबर को एकता मोर्चा का आयोजन किया गया है. इस मोर्चे में सभी जाति धर्म के नागरिकों को सहभागी होने का आह्वान आयोजकों ने किया है. राष्ट्रप्रेमी नागरिक समिति द्वारा दिए पत्रक में नागरिकत्व संशोधन कानून यह किसी भी जाति धर्म के विरोध में नही ऐसा स्पष्टीकरण दिया है. इसके समर्थन में भव्य एकता मोर्चा दोपहर 12 बजे छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा के पास से शुरुआत होगी.

मोर्चा जयस्तंभ चौक, सीमेंट रोड, चिंच परिसर तथा नगर पालिका कार्यालय के सामने से होते हुए तहसील कार्यालय पहुंचकर मोर्चे का रुपांतरण द्वारसभा में होगा. सभा के बाद तहसीलदार को निवेदन दिया जाएगा. शांतप्रिय निकलने वाले इस मोर्चे में सभी जाति धर्म के अनुयायी, विविध राजकीय पार्टी, सामाजिक व सांस्कृतिक संस्था, संगठन, विभिन्न असोसिएशन, मंडल इनके प्रतिनिधि व कार्यकर्ताओं का सहभाग रहेगा. शहर व ग्रामीण क्षेत्र के सभी राष्ट्रप्रेमी नागरिकों ने अपने मित्र, सहकारी, समाजबंधु व परिवार के साथ एकता मोर्चे में सहभागी होने की विनती राष्ट्रप्रेमी नागरिक समिति द्वारा की गयी है.