सड़कों पर उतरी आंगनवाडी सेविकाएं

बुलढाना. केंद्र शासन की नीति के विरोध में विविध संगठनों ने बुधवार को एक दिवसीय अनशन कर प्रशासन का लक्ष्य केंद्रित करने का प्रयास किया. शासकीय कर्मचारी, सिटू, आयटक, बिजली कर्मचारी, परिचारिक संगठन तथा

बुलढाना. केंद्र शासन की नीति के विरोध में विविध संगठनों ने बुधवार को एक दिवसीय अनशन कर प्रशासन का लक्ष्य केंद्रित करने का प्रयास किया. शासकीय कर्मचारी, सिटू, आयटक, बिजली कर्मचारी, परिचारिक संगठन तथा डाक कर्मचारियों सहित अनेक विविध संगठनों के कार्यकर्ता व पदाधिकारी उक्त एक दिवसीय अनशन में शामिल हुए. सिटू प्रणित आंगनवाड़ी कर्मचारी, आयटक कर्मचारी व एनआरसी के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा की ओर से जिलाधिकारी कार्यालय पर आक्रोश मोर्चा भी निकाल कर जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष निदर्शन किया गया. शहर के गांधी भवन परिसर में सिटू संगठन के पदाधिकारी के नेतृत्व में उक्त मोर्चा निकाला गया. पश्चात जिलाधिकारी कार्यालय के मुख्य द्वार के पास पहुंचने पर मोर्चा सभा में रुपांतरित हुआ.

जिलाधिकारी को सौंपा निवेदन
इस अवसर पर महिलाओं ने मोर्चे को संबोधित किया. इसके पश्चात मोर्चे के शिष्टमंडल की ओर से विविध मांगों का ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया. इसमें महंगाई नियंत्रण लाने के लिए प्रभावी कदम उठाने,रोजगार निर्मिति के लिए ठोस उपाययोजना कर बेरोजगारी नियंत्रण में लाने की दिशा में कार्य करने आदि विविध मांगों को लेकर मोर्चा का आयोजन किया गया था. इस अवसर पर का. पंजाबराव गायकवाड, प्रतिभा वक्टे, वर्षा शेलके, कुसुम कावस्कर, ज्ञानेश्वर वाघमारे, शोभा काले, मंदा म्हसाल सहित अनेक कामगार संगठन, सिटु संगठन आदि की उपस्थिति थी.