पशुवैद्यकीय अस्पताल की दीवार में पड़ी दरारें

सुलतानपुर. स्थानीय पशुवैद्यकीय अस्पताल की नई बनी इमारत गत दो वर्षों से विवादों के घेरे में है. दो वर्ष होने के बावजूद अभी तक अस्पताल का हस्तांतरण भी नहीं हुआ और अस्पताल की संरक्षण दीवार में पड़ी

सुलतानपुर. स्थानीय पशुवैद्यकीय अस्पताल की नई बनी इमारत गत दो वर्षों से विवादों के घेरे में है. दो वर्ष होने के बावजूद अभी तक अस्पताल का हस्तांतरण भी नहीं हुआ और अस्पताल की संरक्षण दीवार में पड़ी दरारों ने निकृष्ट दर्जे से किए गए निर्माणकार्य की पोलखोल कर अनेक प्रश्र खड़े कर दिए.

प्राप्त जानकारी के अनुसार श्री सिद्धेश्वर विद्यालय के करीब पशुवैद्यकीय अस्पताल है. उपरोक्त अस्पताल की अवस्था अत्यंत खराब होने के कारण शासन ने वर्ष २०१४-१५ में करीब २२ लाख रुपये की निधि उपलब्ध कर अस्पताल की नई इमारत बनवाई.

अस्पताल की नई इमारत को बने २ वर्ष का समय पूरा हो गया है. किंतु अब तक पशुवैद्यकीय अस्पताल का हस्तांतरण नहीं किया गया वही जीर्ण इमारत में ही अस्पताल का कामकाज शुरू है. उपरोक्त अस्पताल की संरक्षण दिवार की निर्मिती कार्य निकृष्ट दर्जे का किया गया. २२ लाख रुपये खर्च कर बनाई गई नई इमारत में अभी ताला लगा हुआ है. पशुवैद्यकीय अस्पताल की इमारत की ओर जिला प्रशासन ने विशेष ध्यान देकर योग्य कार्रवाई किए जाने की मांग की जा रही है.