10,000 लोगों ने खून से किए हस्ताक्षर

बुलढाना. राज्य में इस समय मराठा, धनगर, लिंगायत समाज को आरक्षण देने की मांग उठ रही है. इस मांग को और ज्यादा बुलंद करने के लिए जिलाधिकारी के माध्यम से 10,000 लोगों के खून से सने हस्ताक्षरों वाला ज्ञापन

बुलढाना. राज्य में इस समय मराठा, धनगर, लिंगायत समाज को आरक्षण देने की मांग उठ रही है. इस मांग को और ज्यादा बुलंद करने के लिए जिलाधिकारी के माध्यम से 10,000 लोगों के खून से सने हस्ताक्षरों वाला ज्ञापन मुख्यमंत्री को भेजा जाएगा. यह जानकारी राज्य के पूर्व मंत्री सुबोध सावजी ने दी. आंदोलन की जानकारी देने के लिए सुबोध सावजी ने मंगलवार को स्थानीय विश्राम भवन में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया. पत्र परिषद में खामगांव के पूर्व विधायक दिलीप सानंदा तथा कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष श्याम उमालकर आदि उपस्थित थे.

भ्रष्टाचारी अधिकारी व पदाधिकारियों के खिलाफ संघर्ष
ज्ञात रहे कि, सुबोध सावजी पिछले दो वर्षों से बुलढाना जिला सरकारी जलापूर्ति योजना भ्रष्टाचार निवारण समिति के माध्यम से काम कर रहे है. यह समिति जिले में विभिन्न जलापूर्ति योजनाओं में हुए भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारी और पदाधिकारियों के खिलाफ अपना संघर्ष चला रहे हैं. इसी कड़ी में अब सावजी ने आरक्षण को भी अपना समर्थन दिया है. सावजी ने बताया कि, इस समय मराठा समाज को आरक्षण देने की मांग काफी तेज हो रही है. इसके साथ ही धनगर समाज, लिंगायत समाज तथा कोली महादेवसमाज को भी जल्द से जल्द आरक्षण लागू किया जाए, जिससे इस समाज को अपना उत्थान करने का एक और अवसर प्राप्त होगा. आरक्षण की इस मांग को और ज्यादा तेज और बुलंद करने के लिए 10,000 लोगों के खून से सने हस्ताक्षरों वाला ज्ञापन मुख्यमंत्री को भेजा जाएगा, ऐसी जानकारी सावजी ने दी.