कोली महादेव समाज का आक्रोश मोर्चा

बुलडाणा. विभिन्न मांगों को लेकर जिले के हजारों कोली महादेव समाज की महिला और पुरुषों ने गुरुवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर दस्तक दी. बाद में जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर मांगों को जल्द से जल्द सुलझाने

बुलडाणा. विभिन्न मांगों को लेकर जिले के हजारों कोली महादेव समाज की महिला और पुरुषों ने गुरुवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर दस्तक दी. बाद में जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर मांगों को जल्द से जल्द सुलझाने का अनुरोध किया गया.

आदिवासी कोली महादेव संघर्ष कृति समिति की ओर से 23 अगस्त को मोर्चा का आह्वान किया गया था. स्थानीय गांधी भवन मैदान पर जिले •से आए हजारों महिला एवं पुरुष इकठ्ठा हुए. गांधी भवन के मैदान पर पहले कोली महादेव समाज की मांगों के विषय में चर्चा करने के लिए सभा का आयोजन किया गया. उपस्थित कोली महादेव समाज के नेताओं ने आंदोलनकर्ताओं का मार्गदर्शन किया. कार्यक्रम में शहीद माधव एकनाथ वाघ का परिवार •भी शामिल हुआ.

जिलाधिकारी डा. डांगे को सौंपा ज्ञापन
दोपहर 12.30 बजे गांधी भवन से मोर्चा शुरू हुआ जो जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंचा. यहां पर आंदोलनकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की. जिलाधिकारी डा. निरुपमा डांगे को ज्ञापन सौंपा गया. ज्ञापन में कहा गया है कि, पिछले कई वर्षों से महादेव कोली समाज के लोग अनुसूचित जनजाति के प्रमाणपत्र नहीं मिल रहे है. इस कारण से इस समाज के लोगों को प्रशासनिक तौर पर काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

पीड़ित परिवार को दें 25 लाख की मदद
इसलिए जल्द से जल्द अनुसूचित जनजाति के प्रमाणपत्र दिए जाएं, कोली महादेव समाज को अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने तथा समाज की मांग को लेकर चिखली तहसील के भनखेड निवासी माधव एकनाथ वाघ ने आत्महत्या की थी. उनके परिवार को कम से कम 25 लाख रुपयों की मदद दी जाएं. ज्ञापन देने के बाद मोर्चा का समापन किया गया.