प्लास्टिक से करेंगे पर्यावरण संवर्धन

बुलढाना. पर्यावरण के हिसाब से सिरदर्द बने प्लास्टिक का अब पर्यावरण संवर्धन के लिए ही उपयोग हो सकता है. इस मामले में जिप. सीईओ षण्मुगराजन एस. व्दारा दिए गए सुझाव पर जि. प. प्रशासन प्रयास कर रहा है.

बुलढाना. पर्यावरण के हिसाब से सिरदर्द बने प्लास्टिक का अब पर्यावरण संवर्धन के लिए ही उपयोग हो सकता है. इस मामले में जिप. सीईओ षण्मुगराजन एस. व्दारा दिए गए सुझाव पर जि. प. प्रशासन प्रयास कर रहा है. इस उपक्रम का हाल ही में उद्घाटन किया गया.

प्लास्टिक की बोतलों से पर्यावरण को नुकसान
प्लास्टिक के पर्यावरणीय नुकसान को देखते हुए राज्य सरकार व्दारा उस पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है. लेकिन आज भी कुछ जगहों पर प्लास्टिक का इस्तेमाल हो रहा है. प्लास्टिक के इस इस्तेमाल में प्लास्टिक बोतलों का भी ज्यादा हिस्सा है. उपयोग के बाद फेंकी गई इन प्लास्टिक की बोतलों से पर्यावरण को काफी नुकसान हो सकता है. इसिलए इन प्लास्टिक बोतलों के उचित इस्तेमाल के लिए जि. प. की ओर से पहल की गई है. जि. प. के सीईओ व्दारा सुझाए गए इस उपक्रम की शुरुआत विभागीय आयुक्त पीयूष सिंह के हाथों हाल ही में की गई.

बोतलों में लगाए जाएंगे पौधे
इस समय जिलाधिकारी डा. निरुपमा डांगे, उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी राजेश लोखंडे, संजय चोपडे, चंदनसिंह राजपूत, अशोक तायडे समेत जि. प. के अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे. इस उपक्रम के तहत पर्यावरण को खतरा पैदा करने वाली प्लास्टिक बोतलों में छोटे-छोटे पौधे लगाए जाएंगे. इस काम के लिए इन बोतलों को खास सांचों में ढाला गया है.

उपक्रम की काफी सराहना
यह बोतलें अभी जि. प. के मुख्यालय के दर्शनी भाग में लोंगों की जानकारी के लिए रखी गई है. इसके माध्यम से पौधों का रोपण तथा पर्यावरण संवर्धन का संदेश भी दिया जा रहा है. जिलाधिकारी डा. निरुपमा डांगे तथा विभागीय आयुक्त पीयूष सिंह ने इस उपक्रम की काफी सराहना की.