कागजातों में गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों पर होगी कार्रवाई

लोणार. जमीन नीति कानून भंग करने के मामले में कागजातों में गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों पर कठोर कार्रवाई के आदेश अमरावती विभाग के राजस्व आयुक्त व्दारा दिए गए हैं, जिस कारण से दोषी अधिकारियों में काफी

लोणार. जमीन नीति कानून भंग करने के मामले में कागजातों में गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों पर कठोर कार्रवाई के आदेश अमरावती विभाग के राजस्व आयुक्त व्दारा दिए गए हैं, जिस कारण से दोषी अधिकारियों में काफी हड़कम्प मचा हुआ है. इस आदेश के बाद अब किस-किस पर कार्रवाई होती है, यह देखने लायक होगा.

प्राप्त जानकारी के अनुसार लोणार के भाग एक सर्वे नंबर 221 की जमीन कुलों को जमीन देने के कानून के तहत चली गयी थी. इस कारण से इसे वर्ग से वर्ग 1 से दो में रुपांतरित किया गया था. लेकिन कुछ वर्ष पहले फिर एक बार इसे वर्ग दो से वर्ग एक में बदलने का कारनामा राजस्व विभाग के अधिकारी और पटवारियों की मिलीभगत से किया गया.

अकृषक बताकर प्लाट बेच दिए
इतना ही नहीं बल्कि इस जमीन को अकृषक करार देते हुए उसे विभिन्न प्लाटों में भी बांटकर उसे बेचा गया. बाद में इस जगह पर कई लोगों ने अपने बड़े-बड़े और पक्के मकान बनाएं. इस पूरी प्रक्रिया में करोड़ों की हेराफेरी होने का आरोप हो रहा है. इसकी जानकारी मिलने के बाद जमीन का मूल रूप से मालिकाना हक रखने वाले गोविंद सीताराम वालकडे ने अमरावती राजस्व आयुक्त की ओर शिकायत दर्ज कराई. इस पूरे मामले की जांच करने के बाद आयुक्त ने इस मामले में लिप्त दोषी अधिकारी और कर्मचारियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश हाल ही में दिए है. कार्रवाई के इस आदेश के बाद तहसील प्रशासन समेत यहां पर रहने वाले लोगों में हड़कम्प मच गया है. मामले में अब किस-किस पर कार्रवाई होती है, इस ओर देखना काफी आवश्यक हो गया है.