warhda

खामगांव. शहर में आवारा कुत्तों के हमले में बच्चों समेत कई लोग जख्मी होने की घटनाए सामने आई है. आवारा कुत्तों की दहशत से लोगों में खौफ निर्माण है. जिसके चलते इन कुत्तो का बंदोबस्त करना जरूरी है. इस

खामगांव. शहर में आवारा कुत्तों के हमले में बच्चों समेत कई लोग जख्मी होने की घटनाए सामने आई है. आवारा कुत्तों की दहशत से लोगों में खौफ निर्माण है. जिसके चलते इन कुत्तो का बंदोबस्त करना जरूरी है. इस संदर्भ में नप की सभा में २८ फरवरी २०१७ को प्रस्ताव पारित हुआ था. इसलिये ९ अक्टुबर तक आवार कुत्ते पकड़कर नसबंदी नहीं किये जाने पर नप कार्यालय के सामने कुत्ते हटाओ – शहर बचाओ आंदोलन करने की चेतावनी राष्ट्रवादी की ओर से मुख्याधिकारी को एक ज्ञापन व्दारा दी गयी है.

ज्ञापन पर तहसील अध्यक्ष गणेश माने, शहर अध्यक्ष देवेंद्र देशमुख, विधानसभा अध्यक्ष धोंडीराम खंडारे, दिलीप पाटिल, जगन्नाथ शेगोकार, आकाश गवळे, बंटी हट्टेल, विकास चव्हाण, रमाकांत गलांडे, रविं आंधले, विजय चोपडे, अरुण गायगोल समेत कार्यकर्ताओं के हस्ताक्षर है.