जिले में बढ़ा सिंचाई का क्षेत्र

बुलढाना. एक समय था जब बुलढाना जिला में हमेशा सूखे जैसे हालात रहते थे. फसलों के लिए सिंचाई का पानी न होने के कारण कृषि उपज में कमी आ रही थी. पीने के पानी के लिए लोगों को दूर-दूर तक भटकना पड़ता था. इस

बुलढाना. एक समय था जब बुलढाना जिला में हमेशा सूखे जैसे हालात रहते थे. फसलों के लिए सिंचाई का पानी न होने के कारण कृषि उपज में कमी आ रही थी. पीने के पानी के लिए लोगों को दूर-दूर तक भटकना पड़ता था. इस स्थिति में भारत बोंद्रे ने अपने प्रयासों से जिले में सिंचाई की परियोजनाओं को शुरू करवाया. जिसका लाभ आज जिले के लोगों को हो रहा है. इसके पीछे भारत बोंद्रे की दूरदृष्टि है, ऐसा प्रतिपादन पूर्व कृषि मंत्री तथा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री, राष्ट्रवादी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने किया.वे राज्य के पूर्व मंत्री बोंद्रे के 75 साल पूरे होने पर चिखली में अमृत महोत्सव कार्यक्रम में बोल रहे थे.

कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष रावसाहब दानवे ने की. मंच पर सांसद प्रतापराव जाधव, पूर्व मंत्री डा. राजेंद्र शिंगणे, पूर्व विधायक ध्रुपदराव सावले, तोताराम कायंदे, रेखा खेडेकर, विजयराज शिंदे, बाबूराव पाटिल, हर्षवर्धन देशमुख, विधायक राहूल बोंद्रे, डा. संजय रायमूलकर, आकाश फुंडकर, रविकांत तुपकर, सतीश गुप्त, विजय कोठारी, राष्ट्रवादी के जिलाध्यक्ष एड. नाझेर काझी, जि. प. की महिला एवं बालकल्याण सभापति श्वेता महाले, नगराध्यक्षा प्रिया बोंद्रे, डा. गणेश खासकर, शंतनु बोंद्रे, लक्ष्मी भारत बोंद्रे आदि उपस्थित थे.

रावसाहब दानवे ने कहा कि, बोंद्रे ने भविष्य का विचार करते हुए जिले में बांधों के निर्माण का काम शुरू नहीं किया होता, तो आज इस इलाके को जलकिल्लत का सामना करना पड़ता. इस अवसर पर उपस्थित मान्यवरों ने विचार रखे. कार्यक्रम का सूत्रसंचालन अजीम नवाज राही ने किया. भारत बोंद्रे के बेटे शंतनु बोंद्रे ने आने वाले अतिथियों का आभार माना.