जिले में सूखाग्रस्त स्थिति की जल्द होगी घोषणा

बुलढाना. जिले के कुल 90 राजस्व मंडलों में से 73 में सूखाग्रस्त स्थिति की घोषणा की गयी थी. लेकिन इनमें से 17 राजस्व मंडलों को वंचित रखा गया था. इन मंडलों में भी फसलों की स्थिति सूखे जैसे ही है. इस

बुलढाना. जिले के कुल 90 राजस्व मंडलों में से 73 में सूखाग्रस्त स्थिति की घोषणा की गयी थी. लेकिन इनमें से 17 राजस्व मंडलों को वंचित रखा गया था. इन मंडलों में भी फसलों की स्थिति सूखे जैसे ही है. इस कारण से इन वंचित राजस्व मंडलों में भी सूखे की घोषणा की जाएं, ऐसा सुझाव विधायक डा. संजय कुटे ने मंगलवार राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की से की थी.

इस पर सकारात्मक फैसला लेने के विषय में कार्यवाही करने के निर्देश फडणवीस ने दिए. महाराष्ट्र विधानसभा का शीतकालीन सत्र मुंबई में शुरू हुआ. सत्र से पहले डा. संजय कुटे ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुकालात कर उन्हें विस्तार से जानकारी दी और वंचित 17 राजस्व मंडलों में भी भीषण सूखे के हालात होने की बात बताई. इस जानकारी पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राजस्व विभाग के आला अधिकारियों को इस संदर्भ में सकारात्मक फैसला लेने के निर्देश दिए. इस निर्देश पर जल्द फैसला होने के संकेत डा. संजय कुटे ने दिए.

जिलाधिकारी कार्यालय में सूखा नियंत्रण कक्ष स्थापित
जिले में इस वर्ष काफ़ी कम बारिश के चलते पूरे जिले में सूखे जैसे हालात है. ऐसे में सूखाग्रस्त स्थिति से निपटने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय में सूखा निवारण और समन्वय कक्ष की स्थापना की गयी है. निवासी उपजिलाधिकारी के नियंत्रण में यह कक्ष कार्यरत रहेगा.सूखा नियंत्रण और समन्वय के लिए गठित इस कक्ष के प्रमुख के तौर पर तहसीलदार एस. जी. सोलंकी की नियुक्ति की गयी है. सूखे की हालात से निपटने के लिए इस कक्ष में 07262-242683 नंबर पर हेल्पलाईन शुरू की गयी है. इस नंबर पर प्राप्त जानकारी, शिकायतों को दर्ज किया जाएगा और उनपर फौरन कार्रवाई के संबंध में संबंधित अधिकारी और कर्मचारियों को भेजी जाएगी. इस कक्ष में तहसीलदार एस. जी. सोलंके, नायब तहसीलदार डी. के. इंगले, अव्वल कारकून एम. वी. सदाशिव, एन. टी. येसकर, वी. यू. पालकर, एस. एम. कलंत्री, एस. एन. हिवाले, प्रशांत खैरनार, कनिष्ठ लिपिक प्रशांत रिंढे, शाखा अभियंता पी. एन. चिंचोले का समावेश है, ऐसी जानकारी जिलाधिकारी कार्यालय व्दारा दी गयी है.