जिले में गोवर-रुबेला टीकाकरण मुहिम शुरू

बुलढाना. सरकार के अब तक के सबसे बड़े स्वास्थ्य मिशन यानिगोवर-रुबेला टीकाकरण मुहिम की शुरुआत हो गई है. इस अवसर पर जिलाधिकारी डा. निरुपमा डांगे तथा जि. प. अध्यक्षा उमा शिवचंद्र तायडे के हाथों टीकाकरण

बुलढाना. सरकार के अब तक के सबसे बड़े स्वास्थ्य मिशन यानिगोवर-रुबेला टीकाकरण मुहिम की शुरुआत हो गई है. इस अवसर पर जिलाधिकारी डा. निरुपमा डांगे तथा जि. प. अध्यक्षा उमा शिवचंद्र तायडे के हाथों टीकाकरण हुए बच्चों को प्रमाणपत्रों का वितरण किया गया. ऊजले में नौ महिने व 15 वर्ष से कम आयु गुट के करीब 7 लाख बच्चों को टीका लगाने का लक्ष्य जिला प्रशासन की ओर से रखा गया है. इसके लिए पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही थी. 27 नवम्बर को स्थानीय जिला परिषद शाला के 42 छात्रों को गोवर-रुबेला टीके लगाए गए.

इस समय शिक्षाधिकारी (माध्यमिक) श्रीराम पानझाडे, सुभाष वराडे, अतिरिक्त जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजेंद्र सांगले, जिला माता एवं बालसंगोपन अधिकारी डा. रविंद्र गोफणे, तहसील स्वास्थ्य अधिकारी डा. बढे आदि उपस्थित थे. इस मुहिम के तहत ज्यादा से ज्यादा बच्चों को टीके लगाने का आह्वान इस समय उपस्थित अतिथियों ने किया.

टीके लगाने प्रशिक्षित टीम तैयार
जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. बालकृष्ण कांबले ने टीकाकरण मुहिम की विस्तार से जानकारी दी. उन्होंने बताया कि, जिले में गोवर-रुबेला के टीके की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता की गयी है. साथ ही इसके लिए ग्रामीण इलाकों में 1,955 एवं शहरी इलाकों में 472 स्थानों को निश्चित किया गया है. टीकों को लगाने के लिए प्रशिक्षित टीम तैयार की गयी है. इस समय जिला शल्यचिकित्सक डा. प्रेमचंद पंडित, बुलढाना अर्बन के संस्थापक अध्यक्ष राधेश्याम चांडक, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. कांबले, अतिरिक्त स्वास्थ्य अधिकारी डा. सांगले समेत छात्र बड़ी संख्या में उपस्थित थे.