WARDHA

संग्रामपूर. अकाल के कारण किसानों को हे. ५० हजार रुपये मुआवजा देने की मांग को लेकर स्वाभिमानी के युवा जिलाध्यक्ष प्रशांत डिक्कर के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को तहसील के निरोड गांव में

संग्रामपूर. अकाल के कारण किसानों को हे. ५० हजार रुपये मुआवजा देने की मांग को लेकर स्वाभिमानी के युवा जिलाध्यक्ष प्रशांत डिक्कर के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को तहसील के निरोड गांव में आत्मक्लेश आंदोलन किया. जिसके तहत करीबन ५ घंटे तक कार्यकर्ताओं ने शमशान भूमि में खुद को दफना लिया था.

इस वर्ष सरकार ने तहसील में अकाल तो घोषित किया किंतु किसानों को राहत मिले इस दृष्टि से कोई उपाययोजना नहीं की. जिससे किसानों को मवेशियों के चारा, पानी समेत परिवार के गुजरान की चिंता सता रही है. जिसके चलते स्वाभिमानी संगठन ने उक्त मांग को लेकर आंदोलन किया है. इस में तहसील अध्यक्ष उज्वल चोपडे, सुनिल अस्वार, विलास तराले, योगेश मुरुख, शिवा पवार, गोपाल वसतकार, प्रकाश भगत, संजय बोरवार, सुखदेव आमझरे, रमेश नांदने, सागर खानझोडे, सागर डोंगरे, दादाराव जाधव, सापान कुरवाले आदी उपस्थित थे.