चारा छावनी के लिए किसानोका मवेशियोके साथ मोर्चा

खामगांव. अकाल की स्थिति होने के बावजूद भी सरकार व्दारा जिले में चारा छावनी शुरू नही की गयी है. जिसके कारण मवेशियों की मौत हो रही है. तो कई किसानों को मजबूरन मवेशियों को कम दामों में बेचना पड़ रहा है.

खामगांव. अकाल की स्थिति होने के बावजूद भी सरकार व्दारा जिले में चारा छावनी शुरू नही की गयी है. जिसके कारण मवेशियों की मौत हो रही है. तो कई किसानों को मजबूरन मवेशियों को कम दामों में बेचना पड़ रहा है. इसलिए जिले में चारा छावनी शुरू करने की मांग को लेकर स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के कार्यकर्ता समेत वाकुड गांव के किसानों ने ८ मई की सुबह ११ बजे मवेशियों के साथ गांव से मोर्चा निकाला था.

यह मोर्चा स्थानीय तहसील कार्यालय पर जाने वाला था. किंâतु पुलिस ने मोर्चा गांव पहुंचने के पहले ही एमआयडीसी बायपास पर उन्हें रोका. इस बात से गुस्साए आंदोलनकारियों ने रास्ते पर ही ठिय्या दिया था. इस वक्त एसडीएम मुकेश चव्हाण व तहसीलदार शितलकुमार रसाल ने वहां पर जाकर आंदोलनकारियों से बातचीत की. व उनकी समस्या हल करने का आश्वासन दिया. इसके बाद आंदोलनकारी अपने गांव वापस लौटे. इसके बावजूद भी चारा छावनी शुरू नही करने पर आंदोलन छेड़ने की चेतावनी दी गयी.