खामगांव. मराठा समाज महाराष्ट्र की आन, बान, शान है. समाज को आरक्षण मिले इसलिए पिछले वर्ष लाखों की संख्या में इकट्ठा होकर राज्य भर में आंदोलन किया गया था. इस आंदोलन को देखते हुए राज्य के सभी पार्टियों

खामगांव. मराठा समाज महाराष्ट्र की आन, बान, शान है. समाज को आरक्षण मिले इसलिए पिछले वर्ष लाखों की संख्या में इकट्ठा होकर राज्य भर में आंदोलन किया गया था. इस आंदोलन को देखते हुए राज्य के सभी पार्टियों ने समाज को आरक्षण देने का फैसला लिया. राज्य सरकार का यह निर्णय मुंबई उच्च न्यायालय ने बरकरार रखा. इसलिए मराठा समाज की संगठन शक्ति देखते हुए उन्ही को आरक्षण का श्रेय जाता है ऐसी प्रतिक्रिया पूर्व विधायक दिलीप कुमार सानंदा ने व्यक्त की. साथ ही सानंदा ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि आंदोलन के दौरान आंदोलकों पर दाखिल हुए मामले खारिज करने की किए जाएं.