खामगांव विस क्षेत्र  इच्छुकों ने शुरू की तैयारी

खामगांव. आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सभी पार्टियों के इच्छुक उम्मीदवार चुनाव लड़ने के तैयारी में जुट गए हैं. जिसके लिए पार्टी से टिकट मिलने के लिए जुगाड़ शुरू कर दिया गया है. भाजपा व मित्र पक्ष

खामगांव. आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सभी पार्टियों के इच्छुक उम्मीदवार चुनाव लड़ने के तैयारी में जुट गए हैं. जिसके लिए पार्टी से टिकट मिलने के लिए जुगाड़ शुरू कर दिया गया है. भाजपा व मित्र पक्ष के नेता फिर से सत्ता में आना चाहते हैं. तो विपक्षी दल उन्हें सत्ता से बाहर करने की तैयारी कर रहे हैं. 2014 के चुनाव की बात की जाए तो भाजपा के आकाश फुंडकर ने कांग्रेस के दिलीपकुमार सानंदा को हराया था.

विकास कार्य ही जीत की राह : फुंडकर
खामगांव निर्वाचन क्षेत्र से २०१४ के चुनाव में पहली बार चुनकर आए भाजपा विधायक एड.आकाश फुंडकर ने कहा कि अब तक उनके द्वारा क्षेत्र में विशेषत: ग्रामीण क्षेत्र में किसानो के हित में कई किए गए कार्य ही उनकी जीत की राह हैं. उनके प्रयासासें से १६० करोड़ की लागत से निम्न ज्ञानगंगा प्रकल्प स्थापित किया गया है. किसानों को संजीवनी देनेवाले जलयुक्त शिवार योजना पर गंभीरता से अमल किया गया है. इस वर्ष हुई पहली बारिश में ही कई बांधो में पानी भरा है. जिससे पूरे विधानसभा क्षेत्र के किसानो को लाभ होगा. दिवंगत भाजपा नेता भाऊसाहब फुंडकर की संकल्पना से नदी, नाला व तालाबों का गहराइकरण कर जल क्षमता बढ़ाई गई. खामगांव जिला निर्माण हेतु प्रयास जारी है.

क्षेत्र की प्रगती के लिए प्रयासशील : सानंदा
खामगांव निर्वाचन क्षेत्र में १९९९ से २००९ तक लगातार 3 बार कांग्रेस के विधायक रहे दिलीपकुमार सानंदा आगामी चुनाव की तैयारी में जुटे हैं. पिछले कार्यकाल में उन्होने खामगांव निर्वाचन क्षेत्र में कई विकास कार्य किए हैं. जिसके बल बूते पर कृउबास, पंचायत समिति, नगर पालिका, जिला परिषद समेत सभी स्थानीय स्वराज्य संस्थाओं पर कांग्रेस का वर्चस्व रहा है. यदि वे आगामी चुनाव जीततें हैं तो खामगांव जिला व लाखनवाडा तहसील का निर्माण, निर्वाचन क्षेत्र के शास्वत विकास के लिए किसान, युवक, व्यापारी, उद्योजक, कामगार, छात्र व महिलाओं की प्रगती के लिए तत्पर रहकर केंद्र व राज्य शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाने का प्रयास करेंगे.

तो निर्दलीय होकर लड़ेंगे : अंमलकार
शिवसेना के तहसील प्रमुख प्रा. अनिल अंमलकार चुनावी मैदान में उतरने के लिए तैयारी में जुटे है. उन्हें शिवसेना से टिकट की उम्मीद है, किसी कारण से टिकट नहीं मिलती है तो वे जनता की मांग पर निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं. निर्वाचन क्षेत्र के बहुआयामी विकास के लिए एक भेदभाव रहित सर्व समावेशक नेतृत्व को बढ़ावा देने के लिए वे चुनाव लड़ना चाहते हैं. राजनीति के माध्यम से अन्याय ग्रस्त को न्याय दिलाना, युवाओं को शिक्षा के संदर्भ में विशेष मार्गदर्शन साथ ही रोजगार का अवसर प्रदान करने को प्राथमिकता देना, किसानों के लिए सहकार तत्व पर आसानी से बीज, बुआई व खेती के साधनों के लिए कर्ज उपलब्ध करवाना, बाल, महिला व युवाओं के उत्थान के लिए विशेष योजनाओ पर अमल करना चाहते हैं.

करेंगे जिला बनाने का प्रयास : चौहान
बुलढाना जिला कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष तेजेंद्रसिंह चौहान ने कहा पार्टी यदि मौका देती है तो वे निश्चित ही चुनाव लड़ेंगे. चुनकर आने के बाद खामगांव जिला निर्माण के लिए हर प्रकार के प्रयास किए जाऐंगे. साथ ही अमरावती _ खामगांव रेल सेवा के लिए प्रयास किए जाऐंगे. शिक्षा क्षेत्र में मेडिकल कालेज व कृषि महाविद्यालय का निर्माण कर स्वास्थ्य सुविधा व कृषि क्षेत्र का विकास करने हेतु प्राथमिकता दी जाएगी.

वंचितोको दिलाएंगे न्याय दिलाऊंगा : देशमुख
पंजाबराव देशमुख ने कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए उन्होंने वंचित बहुजन आघाड़ी से उम्मीदवारी मांगी है. अवसर मिलने पर वह चुनाव लड़ेंगे. किसानपुत्र होने से किसान व युवाओं के लिए काम करना चाहते हैं. कृषि उपज मंडी के १५ साल से संचालक होने से उन्हें किसानों की समस्या के संदर्भ में अच्छी जानकारी है. इसलिए किसानों की समस्याओं प्राथमिकता से हल करने के साथ ही वंचितों को न्याय दिलाने का प्रयास करेंगे.

विकास के लिए रहेंगे तत्पर : कोकरे
राष्ट्रवादी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व विधायक नाना कोकरे १९९० व १९९५ के विधानसभा चुनाव में लगातार 2 बार जीत हासील की थी. इस दस वर्ष के कार्यकाल में खामगांव निर्वाचन क्षेत्र में उन्होने कई विकास कार्य किए. जिस में कई गावों में प्राथमिक स्कूल के कमरों का निर्माण, सामाजिक सभागृह, व्यायाम शाला, ग्रंथालय, बस स्टाप पर यात्री निवास, जलापूर्ति योजना, रास्तों का निर्माण जैसी मुलभूत सुविधाओं समेत कई बड़े कार्य किए. जिसमें खामगांव व शेगांव शहर जलापूर्ति योजना, खामगांव व शेगांव के सरकारी अस्पतालों का विस्तारीकरण जैसे कार्य किए थे. निर्वाचन क्षेत्र में सिचाई क्षेत्र बढ़ाने के लिए उन्होने कई गांवों में बंधारो का निर्माण किया है. जिस

में कोल्हापुरी बंधारोकाभी समावेश है. इसके अलावा बोथा फारेस्ट लघु व मन, तोरणा प्रकल्प पुरा करने के लिए पहलकर सरकार से निधि उपलब्ध करवाई. उनके कार्यकाल में ही यह प्रकल्प पूरे हुए.

आगामी चुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी यदि अवसर देती है तो वे चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं. चुनाव जीतने के बाद किसानों के खेती माल को उचित दाम मिले, युवाओं को रोजगार मिले, प्रलंबित खामगांव : जालना रेल मार्ग व खामगांव जिला निर्माण के लिए प्रयास करेंगे. साथ ही निर्वाचन क्षेत्र का शाश्वत विकास करेंगे.