KDMC demolishes three-storey building

    खामगांव. स्थानीय सराफा परिसर में स्थित जैन मंदिर के समीप शुक्रवार की सुबह अचानक दो मंजिला जर्जर इमारत धराशायी हो गई. इस वक़्त घर में फंसी हुई एक महिला को कड़े प्रयत्नों के बाद मलबे से ठीक ठाक बाहर निकाला गया. गनीमत हैं कि, हादसे में किसी के हताहत होने के समाचार नहीं हैं. लेकिन घर में रखी सामग्री का बड़े प्रमाण में नुकसान हुआ हैं.

    प्राप्त जानकारी के अनुसार सराफा परिसर में स्थित जैन मंदिर के समीप रहने वाले जीतेंद्र चव्हाण यह अपनी मां, पत्नी और दो छोटे बच्चों के साथ रहते हैं. उनके रहते घर की दो मंजिला इमारत यह पुरानी होकर कई दिनों से जर्जर हो गई थी. दौरान शुक्रवार की सुबह यइ इमारत गिरने लगी.

    गनीमत यह रही कि शुरुआत में बिल्डिंग का कुछ हिस्सा गिरा और यह बात जीतेंद्र चव्हाण के ध्यान में आते ही उन्होंने तुरंत पत्नी और बच्चों को घर से बाहर निकाल लिया. लेकिन उनकी मां को बाहर निकालने से पहले ही इमारत भर-भराकर गिर गई. जिसके कारण उनकी मां शारदा चव्हाण यह इमारत में ही फंसी रहीं. दौरान उन्हें फोन करके धीरज बंधाया गया.

    इमारत गिरने की सूचना मिलते ही पुलिस के अलावा नगर पालिका कर्मी, दमकल विभाग मौके पर पहुंच कर मदद कार्य में जुटे. इमारत गिरी वहां पर परिसर के नागरिकों की भारी भीड़ हुई थी. हादसे में घर में रखा टी.वी., कूलर, फ्रिज समेत जीवनावश्यक वस्तुओं का बड़े प्रमाण में नुकसान हुआ. घर का पूरा सामान मलबे के नीचे दबा हैं.