DGCA told airlines: try to keep the middle seat empty

 नयी दिल्ली.नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सोमवार को बताया कि 31 मई को देश भर में कुल 501 घरेलू उड़ानों का संचालन किया गया, जिनमें 44,593 लोगों ने यात्रा की। कोरोना वायरस संक्रमण को काबू करने के लिए लागू लॉकडाउन की वजह से देश में घरेलू विमान सेवाएं निलंबित कर दी गई थीं और दो महीने तक बंद रहने के बाद इन्हें 25 मई को बहाल किया गया। भारतीय विमानन कंपनियों ने 31 मई तक 3,370 उड़ानों का संचालन किया। इनमें 25 मई को 428, 26 मई को 445, 27 मई को 460, 28 मई को 494, 29 मई को 513 और 30 मई को 529 उड़ानें संचालित की गईं।

पुरी ने सोमवार को ट्वीट किया, ‘‘31 मई 2020 (सातवें दिन) को देर रात 11 बजकर 59 मिनट तक 501 विमानों ने प्रस्थान किया, जिनमें 44,593 यात्रियों ने उड़ान भरी। कुल 501 उड़ानों का आगमन हुआ, जिनमें 44,678 लोगों ने यात्रा की। प्रस्थान करने वाले विमानों को ही दिन की उड़ान के रूप में गिना जाता है। विमानन उद्योग के सूत्रों ने बताया कि लॉकडाउन से पहले भारतीय हवाईअड्डे रोजाना करीब 3,000 घरेलू उड़ानें संचालित करते थे। नागर विमानन निदेशालय के आंकड़ों के अनुसार फरवरी में भारत में रोजाना करीब चार लाख 12 हजार यात्रियों ने घरेलू उड़ानों से यात्रा की। पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना और तमिलनाडु ने राज्य में सीमित उड़ानों की ही मंजूरी दी है क्योंकि वह कोविड-19 के संक्रमण के मामलों में वृद्धि नहीं होने देना चाहते हैं। आंध्र प्रदेश में घरेलू उड़ान सेवा मंगलवार को और पश्चिम बंगाल में बृहस्पतिवार को बहाल हुई।