Gold became 50 thousand, customers worried

नयी दिल्ली. रुपये के मूल्य में सुधार के बीच राष्ट्रीय राजधानी के सर्राफा बाजार में सोमवार को सोने का भाव 85 रुपये की हानि के साथ 48,811 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने यह जानकारी दी है। इससे पहले के कारोबारी सत्र में शुक्रवार को सोना 48,896 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। हालांकि, 144 रुपये की तेजी के साथ 49,880 रुपये प्रति किग्रा हो गई। पिछले कारोबारी सत्र में चांदी 49,736 रुपये प्रति किग्रा पर बंद हुई थी।

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, ‘‘रुपये के मूल्य में तेजी आने के बाद दिल्ली में 24 कैरेट सोने की हाजिर कीमत में 85 रुपये की गिरावट आई। विदेशी पूंजी के सतत निवेश के बीच शेयर बाजार में तेजी के कारण सोमवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 17 पैसे के सुधार के साथ 76.03 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत तेजी के साथ 1,746 डॉलर प्रति औंस हो गई जबकि चांदी तेजी के साथ 17.83 डॉलर प्रति औंस चल रही थी।

विश्लेषकों का कहना है कि विश्व भर में कोरोना वायर महामारी के प्रसार में तेजी से निवेशक सुरक्षित निवेश की ओर देख रहे हैं इस लिए सोने में मजबूती की धारणा बरकार है। पटेल ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस के बढ़ते मामले तथा अर्थव्यवस्था में मंदी की आशंका को लेकर उत्पन्न चिंताओं के बीच सोने की कीमतों में तेजी आई।”

निवेश कंसल्टेंसी कंपनी मिलवुड केन इंटरनेशनल के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी नीश भट्ट ने एक नोट में कहा कि सोने की मजबूती मुख्य रूप से कोविड19 संक्रमण के नए मालले ऊचा होने ओर अमेरिका में रोजगार परिदृष्य के धूमिल होने संबंधी फेडरल रिजर्व की ताजा रपट के कारण है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार चौबीस घंटे में दुनिया में कोविड के 1.8 लाख नए मामले दर्ज हुए है। इससे इस महामारी से जल्द राहत मिलने की उम्मीद कम हुई है। भट्ट का कहना है कि डालर के मुकाबले रुपये की कमजारी से भी भारत में सोने की कीमतें चढ़ी हैं। (एजेंसी)