टर्म इंश्‍योरेंस प्‍लान खरीदते समय इन बातों का रखें खास ध्‍यान : क्रोमहाउट

परिवार की आर्थिक सुरक्षा निश्चित करता है टर्म बीमा

मुंबई. श्रीराम लाइफ इंश्‍योरेंस कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ कैस्‍परस क्रोमहाउट ने कहा है कि बीमा, फाइनेंशियल प्‍लानिंग का एक प्रमुख हिस्‍सा है. विभिन्‍न तरह के उपलब्‍ध बीमा प्‍लान्‍स के बीच, टर्म प्‍लान्‍स बीमा का शुद्धतम रूप है. टर्म प्‍लान्‍स, केवल रिस्‍क कवर प्रदान करते हैं और इसमें अतिरिक्‍त रूप से बचत की योजना शामिल नहीं होती है. बीमा खरीदना एक दीर्घकालिक वचनबद्धता होती है, जिसमें व्‍यक्ति के परिवार और उनकी भावी आवश्‍यकताओं का विशेष ख्‍याल रखा जाता है. इसलिए अपने परिवार की आर्थिक सुरक्षा निश्चित करने के लिए हर व्यक्ति को टर्म बीमा अवश्य लेने पर विचार करना चाहिए, लेकिन सोच-विचार कर निर्णय लेना महत्‍वपूर्ण है. टर्म इंश्‍योरेंस प्‍लान खरीदते समय कुछ बातों का ध्‍यान रखा जाना आवश्यक है.

 बीमित राशि: सम एश्‍योर्ड, उस दावा राशि को बताता है जिसका किसी अनहोनी घटना होने पर दावाकर्ता को भुगतान करना होता है. व्‍यक्ति के मानव जीवन मूल्‍य के आधार उचित बीमित राशि का पता लगाने हेतु साधन उपलब्‍ध हैं.

टर्म इंश्‍योरेंस खरीदने की सर्वोत्‍तम आयु: बीमा प्रीमियम की गणना करने हेतु प्रयुक्‍त मर्त्‍यता दर (मॉर्टलिटी रेट्स), आयु बढ़ने के साथ बढ़ती जाती है; इसलिए, जितनी जल्‍दी आप बीमा खरीदते हैं उसका प्रीमियम उतना ही कम होगा. हालांकि, पर्याप्‍त रूप से बीमित होने के लिए, ग्राहकों को जीवन के विभिन्‍न चरणों में तत्‍कालीन आय स्‍तर, जिम्‍मेवारियों और खर्च के आधार पर अपनी जोखिम का बार-बार आकलन करना चाहिए, ताकि जरूरत पड़ने पर अतिरिक्‍त कवर ले सकें.

 पॉलिसी की अवधि: पॉलिसी अवधि, बीमा कराने वाले व्‍यक्ति के जीवन के अर्थोपार्जक वर्षों को कवर करने वाली होनी चाहिए. उचित तो यह होगा कि पॉलिसी की अवधि, रिटायरमेंट की उम्र तक की हो. 

 नॉमिनी:  नॉमिनी से जुड़ी जानकारी अपडेट रखें. साथ ही, परिवार के सदस्‍यों को भी पॉलिसी के बारे में जानकारी दें.

राइडर्स: अधिकांश बीमा कंपनियां अलग से राइडर्स उपलब्‍ध कराती हैं, जैसे दुर्घटनाजन्‍य मृत्‍यु कवर, विकलांगता राइडर, गंभीर बीमारी, महामारी कवर आदि. उल्‍लेखित घटना घटने की स्थिति में बेसिक पॉलिसी बीमा राशि के साथ-साथ राइडर बीमित राशि भी देय होती है. राइडर्स को अलग से खरीदना होता है, इसलिए इसका चुनाव करते समय इसकी आवश्‍यकता और इसके साथ जुड़ने वाला मूल्‍य समझना महत्‍वपूर्ण है.

प्रीमियम: टर्म इंश्‍योरेंस प्‍लान्‍स की मार्केटिंग व्‍यापक रूप से कम प्रीमियम वाले बीमा प्‍लान्‍स के रूप में की जाती है. यद्यपि यह सच है, लेकिन ग्राहकों के लिए यह समझना जरूरी है कि वो ‘मार्केटिंग’ से परे जाकर देय सेवा कर सहित कुल वार्षिक लागत को अच्‍छी तरह जान लें. 

तथ्‍यों का प्रकटीकरण और दावा निपटारा: बीमा एक संविदा है, जहां बीमा कराने वाले व्‍यक्ति के लिए यह जरूरी है कि वो बीमा खरीदते समय स्‍वास्‍थ्‍य, आय आदि से जुड़ी से जुड़ी जानकारी सही-सही दें. तथ्‍यों को छिपाने के चलते दावा रद्द हो सकता है. पॉलिसी से जुड़े दस्‍तावेज़ों को अच्‍छी तरह से ध्‍यानपूर्वक पढ़ लें, ताकि आप सोच-विचार कर निर्णय ले सकें और उन परिस्थितियों को जान सकें जिनसे दावा निपटारे में समस्‍या हो सकती है.

श्रीराम लाइफ इंश्‍योरेंस के सीईओ ने कहा कि टर्म प्‍लान्‍स परिवार के भविष्‍य को स्थिरता प्रदान करते हैं. मौजूदा स्थिति ने बीमा के बारे में जागरूकता और इसकी आवश्‍यकता को बढ़ा दिया है. आगे, वित्‍तीय सुरक्षा की आवश्‍यकता केवल शहरों में रहने वालों के लिए ही नहीं है, बल्कि यह उन परिवारों के लिए भी जरूरी है जो घर के कमाऊ सदस्‍य के न होने की स्थिति में गंभीर आर्थिक संकट में फंस सकते हैं. श्रीराम लाइफ समाज के इन वर्गों और खासकर ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के साथ मिलकर काम करता है, ताकि उनकी बीमा आवश्‍यकताएं पूरी कर सके और उन्‍हें आगे के लिए सुरक्षा कवच प्रदान कर सके. कंपनी की नई बिजनेस पॉलिसीज में टर्म पॉलिसीज का 40% से अधिक योगदान है.