कोरोना संकट के बाद भी ITR भरनेवालों की संख्या में हुआ इजाफा, साल 2020-21 में 7.38 करोड़ लोगों ने भरा इनकम टैक्स रिटर्न

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना तांडव (Coronavirus Pandemic) की रफ्तार अब धीमी पड़ गई है। हालांकि तीसरी लहर (COVID 3rd Wave) की आशंका जताई जा रही है। कोविड के कारण कई उद्योग-धंधे बंद हो गए हैं। बड़ी तादात में लोगों की नौकरी भी गई है। दरअसल कोरोना काल में आर्थिक मोर्चे पर सबसे अधिक नुकसान पहुंचा है। आम जनता की इनकम पर भले ही सीधा असर कोविड ने डाला है लेकिन इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) फाइल करने वालों की संख्या में इस वर्ष भी तेजी से इजाफा हुआ है। 

    वित्त मंत्रालय की तरफ से प्राप्त जानकारी के अनुसार 31 मार्च 2021 को खत्म हुए वित्त वर्ष में 7 करोड़ 38 लाख से अधिक आईटीआर फाइल हुए हैं। यही संख्या पिछले साल 6.70 करोड़ से अधिक थी। भारत में इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिली है। पिछले पांच साल में आईटीआर फाइल करने वालों की संख्या में लगभग 32 फीसदी की तेजी आयी है।

    गौरतलब है कि साल 2016-17 में 5.61 करोड़ आईटी रिटर्न दाखिल हुए थे। लेकिन 2020-21 में यही संख्या 7.38 करोड़ पहुंच गई। जबकि साल 2017-18 में 6.92 करोड़, 18-19 में 6.74 करोड़, वर्ष 2019-20 में 6.70 करोड़ लोगों ने आईटी रिटर्न भरा है। इससे पहले केंद्र ने 7 जून को नया इनकम टैक्स पोर्टल भी लॉन्च किया था। हालांकि इसमें कई तरह की दिक्कतें लगातार सामने आ रही हैं। वैसे साल 2020-21 के लिए आईटी रिटर्न फाइल करने के लिए 30 सितंबर तक का समय दिया गया है।