NTPC draws tender for acquisition of 1 GW of solar projects

एनटीपीसी ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि बढ़े हुए कर्ज की मूल परिपक्वता अवधि एक साल से अधिक की है। इसमें बाह्य वाणिज्यिक ऋण (ईसीबी) शामिल नहीं है।

नयी दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एनटीपीसी ने बीते वित्त वर्ष 2019-20 में 24,056.50 करोड़ रुपये का कर्ज और जुटाया है। इस तरह 31 मार्च, 2020 तक कंपनी पर कुल 1,07,373.37 करोड़ रुपये का कर्ज हो गया है। एनटीपीसी ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि बढ़े हुए कर्ज की मूल परिपक्वता अवधि एक साल से अधिक की है। इसमें बाह्य वाणिज्यिक ऋण (ईसीबी) शामिल नहीं है।

कंपनी ने 2019-20 में ऋण प्रतिभूतियां जारी कर 7,356.50 करोड़ रुपये जुटाए। वित्त वर्ष के दौरान कंपनी को ऋण प्रतिभूतियां जारी कर अनिवार्य रूप से 6,014.13 करोड़ रुपये की राशि जुटानी थी। बीते वित्त वर्ष के दौरान एनटीपीसी ने टिहरी हाइड्रो पावर कॉम्प्लेक्स (टीएचडीसीआईएल) इंडिया और नार्थ ईस्टर्न इलेक्ट्रिक पावर कॉरपोरेशन (नीपको) में सरकार की समूची हिस्सेदारी का 11,500 करोड़ रुपये में अधिग्रहण किया।

देश की सबसे बड़ी बिजली उत्पादन कंपनी की स्थापित क्षमता इस समय 62,110 मेगावॉट की है। एनटीपीसी के स्टेशनों की संख्या 45 और संयुक्त उद्यम स्टेशनों की संख्या 25 है। एनटीपीसी ने 2032 तक 130 गीगावॉट की कंपनी बनने के लिए दीर्घावधि की कॉरपोरेट योजना बनाई है। (एजेंसी)