भारती एयरटेल व वोडाफोन-आईडिया के बाद, रिलायंस जिओ भी बढ़ाएगा अपनी टैरिफ दरें

मुंबई,ख़बरों के अनुसार भारत की अग्रणी दूरसंचार कंपनी जिओ जल्द ही अपने टेरिफ मूल्यों को और बढ़ने वाली है. फिलहाल इसकी तिथि अभी भी बताई नहीं गयी है. विदित हो की 1 दिसंबर 2019 से भारत के अन्य बड़ी दूरसंचार

मुंबई,ख़बरों के अनुसार भारत की अग्रणी दूरसंचार कंपनी जिओ जल्द ही अपने टेरिफ मूल्यों को और बढ़ने वाली है. फिलहाल इसकी तिथि अभी भी बताई नहीं गयी है. विदित हो की 1 दिसंबर 2019 से भारत के अन्य बड़ी दूरसंचार कंपनियों भारती एयरटेल व वोडाफोन ने अपनी दरें बढ़ाने का एलान कर दिया है. वहीं इन दरों के बढ़ने से आम उपभोक्ताओं की आर्थिक दबाव बढ़ना निश्चित है. हालाँकि ये दरें कितनी बधाई जाएँगी ये अभी तय नहीं हुई हैं पर जल्द ही कम्पनिआ इसका उल्लेख अपने वेबसाइट्स में भी करेंगी. 

कहा ये भी जा रहा है कि कंपनियों के एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (एजीआर) के लंबित बेहद भारी भरकम बकाए के बाद यह फैसला किया गया है. वहीं भारती एयरटेल ने एक बयान में कहा, "दूरसंचार क्षेत्र में तेजी से बदलती प्रौद्योगिकी के साथ अत्यधिक पूंजी के निवेश की लगातार जरूरत है। इसलिए, यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि उद्योग डिजिटल इंडिया के दृष्टिकोण का समर्थन करने के लिए हमेशा व्यावहारिक रहे।" साथ ही इसमें ये भी जोड़ा गया है कि एयरटेल दिसंबर से कीमतों में वृद्धि करेगी. वहीं वोडाफोन ने भी दूरसंचार क्षेत्र में वित्तीय संकट का उल्लेख किया और कहा कि इसे सभी हितधारकों ने स्वीकार किया है और कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में सचिवों की एक उच्चस्तरीय कमेटी उचित राहत पहुंचाने पर विचार कर रही है। वोडाफोन आईडिया का भी कहना है कि वह ‘उपयुक्त रूप से’ टैरिफ में बढ़ोतरी करेगी जो एक दिसंबर से प्रभावी होगा।

उधर रिलायंस जिओ का कहना है कि वह भी अपनी टैरिफ की कीमतों में इजाफा करेगा. विदित हो कि हाल ही में उसने Non Jio कॉलिंग के लिए पैसे लेने शुरू किए हैं और इसके लिए नए पैक्स की भी शुरुआत की गई थी.अपनी एक प्रेस रिलीज में रिलायंस जिओ ने कहा कि , ‘मीडिया रिपोर्ट्स में जैसा कहा जा रहा है, हम समझते हैं कि TRAI टेलीकॉम टैरिफ को लेकर कंसल्टेशन प्रॉसेस शुरू करने वाला है. दूसरे ऑपरेटर्स की तरह हम भी सरकार के साथ काम करेंगे और रेग्यूलेटरी रिजीम को मजबूत करेंगे ताकि भारतीय कस्टमर्स के फायदे के लिए इंडस्ट्री मजबूत हो सके. अगले कुछ हफ्तों में हम टैरिफ की कीमतें बढ़ाएंगे’.