Shravanabal scheme grant outstanding of 20 thousand old people

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिएसरकार ने21 दिनों का लॉक डाउन लगा दिया गया है. कारण देश सभी उद्योग कारख़ानों में 14 मार्च तक रोक लग गई हैं. लॉक डाउन के

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के प्रसार  को रोकने के लिए सरकार ने 21 दिनों का लॉक डाउन लगा  दिया गया है.  कारण देश सभी उद्योग कारख़ानों में 14 मार्च तक रोक लग गई हैं. लॉक डाउन के चलते लोगो पर अपने लोन की इएमआई लेकर परेशानी खड़ी हो गई हैं. जिसको देखते हुए रिज़र्व बैंक इंडिया बैंक ग्राहकों को राहत देने  लिए लोन की किस्त पर बड़ी घोषणा  कर सकता हैं.
 
मिल सकता है समय 
मिली जानकारी के अनुसार, रिज़र्व बैंक इंडिया बैंक जल्द ही बैंक के ग्राहकों को राहत देते हुए क़िस्त की तरीकों को आगे बढ़ा सकती है. यानि जो लोग लॉक डाउन के वजह से अपनी क़िस्त नहीं भर पाए उसे अगली बार बिना किसी दंड के भर सकता हैं. इसी मुद्दे पर आईबीए ने  पिछले दिनों आरबीआई के साथ चर्चा कर चुका है.
 
वहीं आरबीआई  अधिकारी ने कहा, " इस विषय पर विचार चल  हैं.  रिज़र्व बैंक इंडिया बैंक जल्द ही इस पर कोई निर्णय लेगा। 

सरकार ने दी राहत 
बुधवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीता रमण ने ग्राहकों को राहत देते हुए कई घोषणाएं की थी. जिसमे उन्होंने बैंक खातों में मिनिमम बैलेंस के प्रावधान को हटा लिया था. इसी के साथ उन्होंने किसी भी एटीएम से पैसे निकलने पर लगने वाला शुल्क भी वापस ले लिया था. 
 
वहीं  केंद्र सरकार ने लोगो को बड़ी रहता देते हुए एक लाख 70 हजार करोड़ का राहत पैकेज की घोषणा की हैं. जिससे देश के एक अरब से ज्यादा लोगों को सीधे लाभ होगा और इस महामारी से लड़ने में सहायता होगी