Cyrus Mistry

मुंबई. उद्योगपति पालोनजी शापूरजी मिस्त्री की 62 वर्षीय बेटी के खाते से किसी अज्ञात व्यक्ति ने धोखाधड़ी के जरिये 90,000 रुपये निकाल लिये। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में दक्षिण मुंबई के कोलाबा पुलिस थाने में साइबर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है।

अधिकारी ने कहा कि घटना जुलाई में सामने आयी जब मिस्त्री की कंपनियों के उप महाप्रबंधक (लेखा) जयेश मर्चेंट को बैंक खाते से रकम निकाले जाने का संदेश फोन पर मिला। यह खाता लैला रुस्तम जहांगीर का है। वह मिस्त्री की दो बेटियों में से एक हैं। लैला दुबई में रहती हैं और उन्होंने अपने नाम के खाते को चलाने का जिम्मा अपने पिता को दिया है।

मिस्त्री ने 2018 में अपनी कंपनी के निदेशक फिरोज भटेना को उनके खाते में वित्तीय लेनदेन की देखरेख करने के लिए अधिकृत किया था। भटेना ने यह काम मर्चेंट को सौंप दिया। बैंक से लेनदेन पर अलर्ट भेजने के लिए भटेना का नंबर दिया गया।

अधिकारी ने कहा कि बैंक खाता काफी पुराना है और आम तौर पर लेनदेन चेक से ही होता है। लेकिन 90,000 रुपये की निकासी का संदेश मिलने के बाद मर्चेंट ने बैंक से इसकी जानकारी ली। यह निकासी कई किस्तों में डेबिट कार्ड से की गयी।

इस संबंध में मर्चेंट की शिकायत पर भारतीय दंड संहिता की धारा 420 और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66सी (पहचान चोरी करना) और धारा 66डी (कंप्यूटर का इस्तेमाल करके किसी और के नाम से धोखाधड़ी करना) के तहत कोलाबा थाने में मामला दर्ज किया गया है।