Sensex starts over 200 points, Nifty down 9,200 points

    मुंबई: बीएसई सेंसेक्स बृहस्पतिवार को 486 अंक लुढ़क गया। वैश्विक बाजारों में बिकवाली के बीच सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाले आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज में गिरावट के साथ बाजार नीचे आया। तीस शेयरो पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 485.82 अंक यानी 0.92 प्रतिशत की गिरावट के साथ 52,568.94 अंक पर बंद हुआ।

    नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 151.75 अंक यानी 0.96 प्रतिशत लुढ़क कर 15,727.90 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में 2 प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ सर्वाधिक नुकसान में टाटा स्टील का शेयर रहा। इसके अलावा सन फार्मा, आईसीआईसीआई बैंक, एसबीआई, कोटक बैंक और डा. रेड्डीज में भी गिरावट रही। दूसरी तरफ टेक महिंद्रा, बजाज ऑटो, पावर ग्रिड और एनटीपीसी समेत अन्य शेयर लाभ में रहे।

    रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा, ‘‘वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख के बीच घरेलू शेयर बाजार बुधवार के रिकार्ड स्तर से नीचे आया।” हांगकांग के हैंगसेग में 2.50 प्रतिशत की गिरावट आयी। नियामकीय जोखिम को लेकर चिंता के बीच निवेशकों ने चीन की प्रौद्योगिकी कंपनियों के शेयरों में जोरदार बिकवाली की।

    फेडरल रिजर्व में अमेरिकी प्रोत्साहन उपायों में कमी की संभावना के बारे में बातचीत होने तथा जापानी अधिकारियों के संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच आलम्पिक खेलों के दौरान कोरोना वायरस आपात स्थिति घोषित किये जाने की तैयारी की खबरों से एशियाई बाजारों में गिरावट आयी।

    शंघाई, सियोल और तोक्यो शेयर बाजारों में भी उल्लेखनीय गिरावट रही। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरूआती कारोबार में गिरावट का रुख रहा। मोदी के अुसार घरेलू बाजार में चौतरफा बिकवाली दबाव देखने को मिला। हालांकि टीसीएस का वित्तीय परिणाम बृहस्पतिवार को जारी होने से पहले आइटी कंपनियों के शेयरों में मजबूती दिखी। धातु और वित्तीय शेयरों में भी सुधार हुआ। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.93 प्रतिशत की गिरावट के साथ 72.75 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। (एजेंसी)