Share Market
Representational Pic

    मुंबई. शेयर बाजारों (Share Market) में शुक्रवार को तीन कारोबारी सत्रों से जारी तेजी का सिलसिला थम गया और सेंसेक्स (Sensex) 487 अंक टूट गया। वित्तीय और वाहन कंपनियों के शेयरों में गिरावट से बाजार में दबाव रहा। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान कुल मिला कर 1,283 अंक -बढ़ के बाद अंत में 487.43 अंक या 0.95 प्रतिशत के नुकसान से 50,792.08 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (Nifty) 143.85 अंक या 0.95 प्रतिशत के नुकसान से 15,030.95 अंक पर आ गया।

    सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज ऑटो का शेयर सबसे अधिक करीब तीन प्रतिशत टूट गया। मारुति, आईसीआईसीआई बैंक, सनफार्मा और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर भी नुकसान में रहे। वहीं दूसरी ओर पावरग्रिड, ओएनजीसी, टाइटन और इन्फोसिस के शेयरों में लाभ दर्ज हुआ। रिलायंस सिक्योरिटीज के प्रमुख रणनीति विनोद मोदी ने कहा कि सकारात्मक वैश्विक रुख से बाजार बढ़त के साथ खुले। लेकिन वित्तीय और वाहन कंपनियों के शेयरों में बिकवाली दबाव से अंत में घरेलू बाजार बड़ी गिरावट के साथ बंद हुए।

    उन्होंने कहा कि अमेरिका में 10 साल के बांड पर प्राप्ति बढ़कर 1.6 प्रतिशत हो गई है। इससे भी शेयरों को लेकर निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई। अन्य एशियाई बाजारों में चीन के शंघाई कम्पोजिट, दक्षिण कोरिया के कॉस्पी तथा जापान के निक्की में लाभ रहा। वहीं हांगकांग के हैंगसेंग में गिरावट आई।

    शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार नुकसान में थे। इस बीच, वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.09 प्रतिशत के नुकसान से 69.57 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था। (एजेंसी)