Yes Bank

यस बैंक ने शनिवार को कहा कि उसकी शेयर धारिता का पुनर्वर्गीकरण होगा क्योंकि मधु कपूर समूह ने उसे बैंक के सार्वजनिक अंशधारकों के रूप में वर्गीकृत किए जाने को लेकर सहमति दे दी है।

नयी दिल्ली. यस बैंक ने शनिवार को कहा कि उसकी शेयर धारिता का पुनर्वर्गीकरण होगा क्योंकि मधु कपूर समूह ने उसे बैंक के सार्वजनिक अंशधारकों के रूप में वर्गीकृत किए जाने को लेकर सहमति दे दी है। यस बैंक ने एक नियामकीय सूचना में कहा कि यह सूचित करना है कि बैंक को दिनांक 28 मई, 2020 (29 मई, 2020 को प्राप्त) का मधु अशोक कपूर, शगुन कपूर गोगिया, गौरव अशोक कपूर और मैग्स फिनवेस्ट प्राइवेट लिमिटेड (सामूहिक रूप से मधु कपूर समूह के रूप में जाने जाने वाले) का लिखा पत्र प्राप्त हुआ है जिसमें उन्होंने बैंक में अपने शेयरधारिता को ‘गैर-प्रवर्तक शेयरधारकों’ (यानी सार्वजनिक शेयरधारकों) के रूप में वर्गीकृत करने के लिए सहमति दी है। इसमें कहा गया है, ‘‘बैंक इसे प्रभावी करने के लिए आगे की जरूरी कार्रवाई करेगा।”

उल्लेखनीय है कि राणा कपूर ने मधु कपूर के दिवंगत पति अशोक कपूर के साथ मिलकर वर्ष 2004 में नए जमाने के निजी क्षेत्र के बैंक के रूप में यस बैंक की स्थापना की थी। राणा कपूर और अशोक कपूर की पत्नियां आपस में बहनें हैं। राणा कपूर लंबे समय तक यस बैंक के शीर्ष पद पर रहे। फिलहाल वह कथित तौर पर भ्रष्टाचार के मामले में पुलिस हिरासत में है। यस बैंक का नेतृत्व इस समय स्टेट बैंक की अगुवाई में कई अन्य बैंकों द्वारा किया जा रहा है। (एजेंसी)