मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में बड़ी राहत, जून में आठ बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 8.9 प्रतिशत बढ़ा

    नयी दिल्ली: देश में आठ बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर इस साल जून में 8.9 प्रतिशत रही। मुख्य रूप से कमजोर तुलनात्मक आधार और प्राकृतिक गैस, इस्पात, कोयला तथा बिजली उत्पादन बढ़ने से बुनियादी उद्योगों में अच्छी वृद्धि दर्ज की गयी। 

    आठ बुनियादी उद्योगों-कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली में पिछले साल जून में 12.4 प्रतिशत की गिरावट आयी थी। इसका कारण कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिये देश भर में लगाया गया ‘लॉकडाउन’ था। इस साल मई में बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर 16.3 प्रतिशत जबकि अप्रैल में 60.9 प्रतिशत थी।

    वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार कोयला, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, इस्पात, सीमेंट और बिजली के उत्पादन में क्रमश: 7.4 प्रतिशत, 20.6 प्रतिशत, 2.4 प्रतिशत, 25 प्रतिशत, 4.3 प्रतिशत और 7.2 प्रतिशत की तेजी रही।

    वहीं पिछले साल जून में कोयला, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, इस्पात, सीमेंट और बिजली उत्पादन में क्रमश: 15.5 प्रतिशत, 12 प्रतिशत, 8.9 प्रतिशत, 23.2 प्रतिशत, 6.8 प्रतिशत और 10 प्रतिशत की गिरावट आयी थी। कच्चे तेल का उत्पादन आलोच्य महीने में 1.8 प्रतिशत घटा जबकि जून 2020 में इसमें 6 प्रतिशत की गिरावट आयी थी।

    उर्वरक क्षेत्र में जून महीने में 2 प्रतिशत की वृद्धि रही। चालू वित्त वर्ष में अपैल-जून तिमाही के दौरान आठ बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर 25.3 प्रतिशत रही जबकि एक साल पहले 2020-21 की इसी तिमाही में इसमें 23.8 प्रतिशत की गिरावट आयी थी।(एजेंसी)