Max Healthcare shares listed at Rs 107 on BSE

    मुंबई:  प्रमुख शेयर बाजार बीएसई ने छह जून से 21 सितंबर के बीच एक करोड़ पंजीकृत निवेशक खाते जोड़े हैं। इसके साथ केवल 107 दिन में निवेशक खातों की संख्या आठ करोड़ से ऊपर पहुंच गयी है।

    इससे पहले शेयर बाजार ने छह जून को कहा था कि उसके पंजीकृत उपयोगकर्ताओं का आधार सात करोड़ को पार कर गया है। पिछले साल 23 मई से यानी 12 महीने से थोड़े अधिक समय में दो करोड़ पंजीकृत निवेशक खाते जोड़े गये। इस बारे में बीएसई के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी आशीष कुमार चौहान ने कहा कि पिछले डेढ़ साल से अधिक समय से प्रत्यक्ष रूप से या फिर म्यूचुअल फंड के माध्यम से इक्विटी निवेश बढ़ा है। वैश्विक स्तर पर इसके कई कारण हैं और घरेलू बाजार भी इस रुख का अनुकरण कर रहा है।

    उन्होंने बाजार में निवेश करने को लेकर सतर्क रहने की भी सलाह दी। उन्होंने कहा कि हर निवेशक के लिये यह जरूरी है कि वह निवेश करने से पहले कंपनी के बारे में पूरी जानकारी रखे और उस उत्पाद के बारे में पूरा ब्योरा रखे, जिसमें वह पैसा लगाने जा रहे हैं। चौहान ने कहा कि फरवरी 2008 में एक्सचेंज के पास सिर्फ एक करोड़ निवेशक खाते थे।  यह जुलाई 2011 तक बढ़कर दो करोड़ हो गये।

     जनवरी 2014 में इसे तीन करोड़ तक ले जाने में बीएसई को लगभग तीन साल लगे, और अगस्त 2018 में यह चार करोड़ के स्तर को पार कर गया।  इसने मई 2020 में पांच करोड़ का आंकड़ा पार किया, 19 जनवरी 2021 को छह करोड़ और छह जून 2021 को सात करोड़ का आंकड़ा पार किया। इसने 21 सितंबर, 2021 को आठ करोड़ के स्तर को पार कर लिया। यह सबसे तेज वृद्धि रही। केवल 107 दिन में एक करोड़ खाते जोड़े गये।