File Photo
File Photo

Loading

मुंबई: नया वित्तीय वर्ष 31 मार्च के बाद 1 अप्रैल से शुरू होगा। नया वित्तीय वर्ष शुरू होने पर कई बदलाव होंगे। महंगाई की मार आम लोगों पर पड़ेगी। नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत के साथ ही कई चीजें महंगी हो जाएंगी. इसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ेगा। दरअसल, 1 फरवरी को पेश हुए आम बजट में कई चीजों पर टैक्स बढ़ा दिया गया है, जिससे इनकी कीमतों में इजाफा हुआ है। यह नियम 1 अप्रैल 2023 से लागू होगा।

क्या सस्ता होगा

1 अप्रैल, 2023 से कई वस्तुओं पर कस्टम ड्यूटी 5% से घटाकर 2.5% कर दिया गया है। इससे इन चीजों की कीमत कम होगी। इनमें मोबाइल फोन, कैमरा, एलईडी टीवी, बायोगैस से संबंधित प्रोडक्ट, इलेक्ट्रिक कार, खिलौने, हीट कॉइल, हीरे के आभूषण, साइकिल आदि शामिल हैं।

UPI के जरिए ट्रांजैक्शन भी होगा महंगा 

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के जरिए मर्चेंट ट्रांजेक्शन चार्ज करने की सिफारिश की है। यह बदलाव 1 अप्रैल से लागू हो गया है। सर्कुलर के मुताबिक, 1 अप्रैल से 2,000 रुपये से अधिक के लेनदेन पर 1.1 % का अधिभार प्रस्तावित किया गया है। यह शुल्क व्यापारी के लेन-देन यानी व्यापारी को पेमेंट करने वाले ग्राहक को देना होता है।

एलपीजी सिलेंडर

हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी सिलेंडर के दाम की समीक्षा होती है। इस 1 अप्रैल से पेट्रोलियम कंपनियां रेट बढ़ा सकती हैं। इससे पहले एक मार्च को कंपनियों ने सिलेंडर के दाम में 50 रुपये की बढ़ोतरी की थी। उसके बाद दिल्ली में इसकी कीमत 1103 रुपये हो गई। पहले यह 1053 रुपये में मिलता था। संभावना जताई जा रही है कि तेल कंपनियां इस बार भी सिलेंडर की कीमतों में इजाफा कर सकती हैं।

कारों की कीमतें भी बढ़ने वाली हैं

अगर आप कार खरीदने का प्लान कर रहे हैं तो 1 अप्रैल से यह भी महंगी हो जाएगी। टाटा मोटर्स, हीरो मोटो कॉर्प और मारुति ने वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी की घोषणा की है। नई दरें एक अप्रैल से प्रभावी होंगी। कंपनियों द्वारा अलग-अलग मॉडल के आधार पर कीमत बढ़ाई जाएगी।