NSE Building

    मुंबई. भारतीय रिटेल निवेशक अब अमेरिकी शेयर बाजारों में लिस्टेड शेयरों में भी निवेश कर सकेंगे। यह सुविधा जल्द ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) शुरू करने जा रहा है। एनएसई यह सुविधा गिफ्ट सिटी स्थित अपने एनएसई इंटरनेशनल स्टॉक एक्सचेंज के एनएसई-आईएफएससी (NSE-IFSC) प्लैटफॉर्म के द्वारा प्रदान करेगा। 

    इस प्लैटफॉर्म पर रिटेल निवेशक भी अमेरिकी स्टॉक्स (US Stocks) में निवेश और ट्रेड कर पाएंगे। अमेरिकी स्टॉक में ट्रेडिंग, क्लियरिंग, सेटलमेंट और होल्डिंग एनएसई-आईएफएससी अथॉरिटी के अंतर्गत आएगा। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज भारतीय रिटेल निवेशकों को यह सुविधा प्रदान करने वाला पहला भारतीय एक्सचेंज होगा। हालांकि यह सुविधा चुनिंदा बड़ी अमेरिकी कंपनियों के शेयरों में मिलेगी।  जिनकी नाम की घोषणा बाद में की जाएगी।

    गिफ्ट सिटी में खोला जाएगा अकाउंट

    एनएसई के सीईओ और प्रबंध निदेशक विक्रम लिमये ने कहा कि एनएसई-आईएफएससी में निवेशकों (Investors) को कई तरह की सुविधाएं (Facilities) मिलेंगी। इस प्लैटफॉर्म की मदद से इंडियन रिटेल निवेशक आसानी से अमेरिकी स्टॉक्स में निवेश (Investment)कर पाएंगे। अगर कोई निवेशक अमेरिकी स्टॉक में निवेश करता है तो शेयर उसके डिमैट अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे। यह अकाउंट गिफ्ट सिटी में खोला जाएगा।यह प्लैटफॉर्म बहुत जल्द यह निवेशकों के लिए शुरू कर दिया जाएगा। निवेश की सुविधा भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम फ्रेमवर्क के अंतर्गत मिलेगी। जिसके अंतर्गत एक भारतीय एक वित्त वर्ष में विदेशों में अधिकतम 2.5 लाख डॉलर यानी 1.85 करोड़ रुपए के करीब निवेश कर सकता है।