share market
Representational Pic

    मुंबई: रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक और मारुति के शेयरों में लाभ से सोमवार को सेंसेक्स और निफ्टी मामूली बढ़त के साथ अपने नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए। हालांकि, बाजार ने कारोबार के दौरान अपना अधिकांश शुरुआती लाभ गंवा दिया।

    बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान 60,412.32 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर तक गया। कारोबार की समाप्ति पर अंत में यह 29.41 अंक यानी 0.05 प्रतिशत की बढ़त के साथ अपने नए रिकॉर्ड स्तर 60,077.88 अंक पर बंद हुआ।

    सेंसेक्स में लगातार तीसरे कारोबारी सत्र में लाभ दर्ज हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 1.90 अंक यानी 0.01 प्रतिशत के लाभ से अपने नए सर्वकालिक उच्चस्तर 17,855.10 अंक पर बंद हुआ। 

    सेंसेक्स की कंपनियों में मारुति का शेयर सबसे अधिक 6.53 प्रतिशत चढ़ गया। महिंद्रा एंड महिंद्रा, बजाज ऑटो, एनटीपीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक और अल्ट्राटेक सीमेंट के शेयर भी लाभ में रहे।

    वहीं दूसरी ओर एचसीएल टेक, टेक महिंद्रा, बजाज फिनसर्व और इन्फोसिस, एलएंडटी, नेस्ले इंडिया और हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयरों में गिरावट आई। 

    सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में 17 नुकसान में रहे जबकि 13 में लाभ रहा।  रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा, ‘‘वैश्विक बाजारों के सकारात्मक रुख के बीच घरेलू बाजारों में सीमित दायरे में कारोबार हुआ।

    आईटी तथा फार्मा कंपनियों में मुनाफावसूली से वाहन कंपनियों के शेयरों में तेज बढ़त का लाभ सिमट गया।” उन्होंने कहा कि अक्टूबर से मांग में सुधार की उम्मीद से वाहन कंपनियों के शेयरों में जोरदार लाभ रहा। 

    जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘आईटी, फार्मा और एफएमसीजी कंपनियों के शेयरों में मुनाफावसूली से बाजार अपनी बढ़त को कायम नहीं रख पाया और स्थिर रुख के साथ बंद हुआ।” उन्होंने कहा कि रियल्टी शेयरों सकारात्मक परिवेश से तेजी का रुख रहा।

    वहीं आगामी त्योहारों के दौरान आटोमोबाइल क्षेत्र में बिक्री बढ़ने की उम्मीद में धारणा तेजी की रही। बाजार इस सप्ताह अगस्त के बुनियादी क्षेत्र उद्योग के उत्पादन आंकड़ों और सितंबर के विनिर्माण पीएमआई आंकड़ों पर भी नजर लगाये हुये है। 

    बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप स्थिर रुख के साथ बंद हुये। अन्य एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग तथा दक्षिण कोरिया का कॉस्पी लाभ में रहे। वहीं चीन के शंघाई कंपोजिट और जापान के निक्की में गिरावट आई।  दोपहर के कारोबार में यूरोपीय बाजार लाभ में थे। 

    इस बीच, अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 1.32 प्रतिशत की बढ़त के साथ 78.25 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।  अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 15 पैसे टूटकर 73.83 प्रति डॉलर पर बंद हुआ।(एजेंसी)