Zomato

    नयी दिल्ली. जोमैटो का शेयर (Zomato Shares) शुक्रवार को पहले कारोबारी दिन में 76 रुपये के निर्गम मूल्य के मुकाबले लगभग 66 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुआ। शेयर भाव के हिसाब से कंपनी का बाजार मूल्यांकन सक समय एक लाख करोड़ रुपये से ऊपर पहुंच गया। जोमैटो के शेयर बीएसई (BSE) पर निर्गम मूल्य के मुकाबले 51.31 फीसदी की भारी बढ़त के साथ 115 रुपये प्रति शेयर के भाव पर सूचीबद्ध हुए। बाद में शेयर 81.57 फीसदी की उछाल के साथ 138 रुपये के स्तर पर पहुंच गए। यहशेयर अंत में 65.59 प्रतिशत की तेजी के साथ 125.85 रुपये के भाव पर बंद हुआ।

    एनएसई में शेयर 52.63 प्रतिशत प्रीमियम के साथ 116 रुपये पर सूचीबद्ध हुए और कारोबार के अंत में 64.86 प्रतिशत की बढ़त के साथ 125.30 रुपये पर बंद हुए। पिछले सप्ताह जोमैटो को प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) को 38 गुना अभिदान मिला था। इस तेजी के साथ जोमैटो का बाजार पूंजीकरण बीएसई पर बढ़कर एक लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गया। कारोबार के अंत में कंपनी का बाजार पूंजीकरण 98,731.59 करोड़ रुपये था। कंनली के संस्थापक और सीईओ दीपिंदर गोयल ने दिन में कहा कि यह कंपनी के लिए ‘‘बहुत बड़ा दिन है।” उन्होंने इसे ‘‘एक नई शुरुआत” बताया।

    गोयल ने इससे पहले दिन में एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, ‘‘आज हमारे लिए बहुत बड़ा दिन है। एक नई शुरुआत। हम भारत के पूरे इंटरनेट पारिस्थितिकी तंत्र के अविश्वसनीय प्रयासों के बिना यहां नहीं पहुंच सकते थे।” उन्होंने ‘लेटर फ्रॉम दीपी’ शीर्षक वाले ब्लॉग में कहा कि वह भारत में और इस देश के भविष्य में दृढ़ विश्वास रखते हैं।

    गोयल ने आगे कहा, ‘‘भारत परिचालन के लिहाज से एक कठिन बाजार है, लेकिन यदि आप यहां सफल होने के लिए प्रयास कर रहे हैं, तो आप पहले से ही कुछ खास हैं।”

    मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड की शोध विश्लेषक स्नेहा पोद्दार ने कहा कि आईपीओ का आकार बड़ा होने के बावजूद इसे 38 गुना अभिदान मिला और बाजार में यह अपनी तरह की अनोखी लिस्टिंग है। दिन के कारोबार के दौरान बीएसई में जोमैटो के 451.71 लाख शेयरों और एनएसई में 69.48 करोड़ से अधिक शेयरों का कारोबार हुआ। जोमैटो का गठन 2008 में हुआ था। इस समय कंपनी देश के 525 शहरों में रेस्त्रां में तैयार व्यंजनों के पार्सल का वितरण कर रही है। कंपनी 23 अन्य देशों में नेटवर्क है। इसके साथ करीब 3.90 लाख सक्रिय रेस्त्रां जुड़े हैं।