कोरोना : डोनेशन न करने पर अमिताभ बच्चन हुए ट्रोल, यूजर्स ने कही ऐसी बातें

मुंबई. कोरोनावायरस के कारण देश में 21 दिन का लॉकडाउन लागू हो गया है. इस लॉकडाउन के कारण देश के गरीब और मजदूरों को एक वक्त का खाना भी नसीब नहीं हो रहा है. ऐसे में बॉलीवुड स्टार्स भारत सरकार के मदद के

मुंबई. कोरोनावायरस के कारण देश में 21 दिन का लॉकडाउन लागू हो गया है. इस लॉकडाउन के कारण देश के गरीब और मजदूरों को एक वक्त का खाना भी नसीब नहीं हो रहा है. ऐसे में बॉलीवुड स्टार्स भारत सरकार के मदद के लिए आगे आये है. फिल्म इंडस्ट्री के कई स्टार्स ने भारत सरकार को लाखों-करोड़ो का दान किया है. इस लिस्ट में अक्षय कुमार का नाम सबसे पहले आता है. अक्षय ने 25 करोड़ रुपये दान किये है. अक्षय के बाद सबकी नजर बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन पर टीकी हुई थी.

यह भी पढ़े :बेटी के कोविड 19 पॉजीटिव होने पर अजय देवगन ने कही यह बात

यह भी पढ़े हालांकि, अमिताभ बच्चन ने आर्थिक मदद करने की कोई खबर अभी तक सामने नहीं आयी है. इस वजह से फैंस ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया. इसके बाद अमिताभ बच्चन ने ट्रोलर्स को जवाब देते हुए एक ट्वीट किया.लेकिन, इस ट्वीट के कारण अमिताभ बच्चन चर्चा में आ गए है. अमिताभ बच्चन अपने ट्वीटर अकाउंट पर एक कविता पोस्ट की है.

यह भी पढ़े :इस बॉलीवुड सेलिब्रिटी की कोविड 19 टेस्ट आई पॉजिटिव

इस कविता में उन्होंने ने लिखा, ‘एक ने दिया और कह दिया, कि दिया, दूसरे ने दिया और कहा नहीं, कि दिया, दूसरी श्रेणी में ही रहने दो मुझे ऐ प्रीयजन, जिसे मिला, वो क्या जाने किसने दिया; जानो उसका बस करुण क्रंदन। इन हालातों में और क्या कहा जाए,जो जानें मुझे, जानें, मैं तो सदा स्वभाव से ही रहा हूँ कमसुख़न! (कमसुख़न : कम बोलने वाला) अमिताभ।’

यह भी पढ़े :सलमान खान के इस करीबी शख्स की हुई मौत, शोक में डूबा पूरा परिवार

दरअसल, अमिताभ बच्चन इस कविता के जरिये बताना चाहते थे कि उन्होंने गुप्त दान किया है और वो इसका दिखावा नहीं करते।लेकिन, ट्रोलर्स को उनका यह अंदाज पसंद नहीं आया. कई यूजर्स ने अमिताभ बच्चन से कहा कि ‘आपने कुछ दिया ही नहीं सर तो कैसे कहोगा, कम से कम 551 तो दे देते।’ अमिताभ के इस ट्वीट पर उन्हें यूजर्स ने खूब खरी खोटी सुनाई।

यह भी पढ़े :जावेद अख्तर ने की देश में सभी मस्जिदों को बंद करने की मांग

एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा कि इस मुश्किल के समय आपके मन में खोट है, आप कितना दान करते हैं ये बताना जरुरी नहीं। लेकिन किसने कितना दान किया उसपर कुछ कहना भी नहीं चाहिए। तो दूसरे यूजर ने लिखा, सर ने दान दे दिया है और वो बोल रहे हैं कि मैं उनमें से हूं जो देने के बाद बताते नहीं हैं कि मैंने दे दिया है!