खनिज निधि से 10 लाख की चोरी, पार्षद से लेकर अधिकारी चोरी से अंजान

चंद्रपुर. प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना निधि से वड़गांव प्रभाग 8 में नांदे से चहांदे के निवासस्थान तक 10 लाख रुपये का सीमेंट कांक्रीट मार्ग मंजूर किया था. परंतु संबंधित सड़क की निधि कहीं और परावर्तित करने से सड़क के निधि की चोरी हुई है. इस संदर्भ में प्रभाग के पार्षद, कंत्राटदार व बीएन्डसी विभाग के अधिकारी इस चोरी से अंजान हैं. एकदूसरे की ओर उंगली दिखाकर जिम्मेदारी को मढ़ने का कार्य कर रहे हैं. इस मामले में वरिष्ठ स्तर पर पूंछताछ करने पर बडा मामला सामने आने की संभावना जतायी जा रही है. 

1 वर्ष के बाद भी सड़क का निर्माण नहीं 
महाराष्ट्र शासन के लोकनिर्माण विभाग की ओर से वर्ग आठ व सोसायटी, सुशिक्षित बेरोजगार अभियंता तथा मजदूर सहकारी संस्था वर्ग के पंजीबध्द् ठेकेदार की ओर से आनलाइन टेंडर विज्ञापन वर्ष 2019 को एक प्रादेशिक समाचार पत्र में प्रकाशित की गयी. खनिज निधि कल्याण निधि अंतर्गत कुल 14 करोड़ 55 लाख के सड़क के कार्य के लिए टेंडर था. इसमें वड़गांव प्रभाग 8 के नांदे से चहांदे के निवासस्थान तक सीमेंट कांक्रिट मार्ग के लिए 10 लाख के निधि का ठेका मजदूर सहकारी संस्था को दिया गया. वड़गांव प्रभाग के सड़क का भूमिपूजन विधानसभा चुनाव के पहले तत्कालीन विधायक नाना शामकुले व भाजपा पार्षद देवानंद वाढ़ई तथा भाजपा पदाधिकारी की उपस्थिति में किया गया. सड़क का निर्माण कार्य जल्द शुरू होने की ओर वार्डवासियों की नजरे टिकी हुई थी. परंतु 1 वर्ष होने के बावजूद सड़क का निर्माण नहीं होने से परिसर के नागरिकों ने इस संदर्भ में जानकारी निकालना शुरू की. तत्पश्चात इसके पीछे बड़ा षडयंत्र होने की बात सामने आयी. 

पूंछताछ करने पर किया टालमटोल
सड़क निर्माण हेतु प्रभाग के नागरिकों ने लोकनिर्माण विभाग 1 के अधीक्षक अभियंता  को मई 2020 महीने में निवेदन सौंपा. परंतु अब तक सही जबाब नहीं मिल पाया. इस संदर्भ में कनिष्ठ अभियंता श्रीकांत भट्टड से पूंछताछ करने पर पार्षद देवानंद वाढ़ई से पूंछताछ करने की जानकारी दी. तत्पश्चात मंजूर सोसायटी संस्था तुकूम के कार्यालय के कर्मचारी से पूंछताछ की गयी. ठेकेदार ने संस्था की जानकारी देने के बजाय कनिष्ठ अभियंता श्रीकांत भट्टड से पूंछताछ करने की बात कही. संबंधितों से टालमटोल जवाब दिया गया. इस संदर्भ में चंद्रपुर विधायक जोरगेवार, पालकमंत्री वडेट्टीवार, जिलाधिश डा. कुणाल खेमनार को निवेदन सौंपा गया. इस संदर्भ में अब पालकमंत्री, विधायक, जिलाधीश सीमेंट कांक्रीट मार्ग पर क्या कदम उठाते हैं. इस ओर वार्डवासियों की नजरें लगी हुई है.