परिजनों को 16 लाख और ठेका कंपनी में नौकरी, दालमिया सीमेंट कंपनी में 5 घंटे चली मैराथन बैठक के बाद हुआ फैसला

    गडचांदूर . कोरपना तहसील के नारंडा गांव में स्थित पुरानी मुरली सीमेंट कंपनी जो कि वर्तमान में दालमिया सीमेंट कंपनी के एक निजी ठेकेदार के यहां कार्यरत मजूदर की ऊंचाई से गिरने के कारण संतोष चव्हाण (28) की मृत्यु हो गई. 

    मृतक के परिजनों को क्षतिपूर्ति और नौकरी की मांग के लिए 5 घंटे चली मैराथन बैठक के साथ 16 लाख रुपए क्षतिपूर्ति, बीमा, पीएफ मृतक के दो भाइयों को ठेका कंपनी के माध्यम से आपरेशन और मेंटंन्स में नौकरी दी जाएगी. जिसके बाद यह बैठक समाप्त हो गई.

    मंगलवार की रात 9 बजे तक चली बैठक में कंपनी के एचआर विभाग प्रमुख उमेश कोल्हटकर, आयआर. हेड पराग पम्पटीवार, मैनेजर चंदेल, सुरक्षा अधिकारी राजेश जुनोरकर, मृतक की ओर से परिवार के सदस्य, कामगार और तीनों यूनियन के पदाधिकारी मौजूद थे.

    ज्ञात हो कि शिवा कन्स्ट्रक्शन कंपनी में सुपरवायजर पद पर कार्यरत संतोष चव्हाण ऊंचाई पर कूलर एसपी का काम रहा था. अचानक 3 बजे के दौरान गिरने से बुरी तरह से घायल हो गया. उसे तुरंत गड़चांदूर के ग्रामीण अस्पताल में लाया गया जहां चिकित्सक ने परीक्षण उपरांत उसे मृत घोषित कर दिया. इसके बाद सहयोगी कर्मचारी, परिजन और यूनियन के पदाधिकारियों ने क्षतिपूर्ति और अन्य मांगों के लिए हंगामा किया था. इस विषय को लेकर 5 घंटे चली बैठक के बाद हुए फैसले से परिवार के सदस्य संतुष्ट हो गए.