17,122 बकाएदारों की बत्ती गुल, कार्रवाई : 358 ग्राहकों की बिजली आपूर्ति स्थायी रूप से खंडित

    चंद्रपुर. महावितरण के चंद्रपुर परिमंडल में घरेलू, वाणिज्यिक, औद्योगिक, सरकारी कार्यालय, सार्वजनिक जलापूर्ति योजना व स्ट्रीट लाइट का बकाया 346 करोड़ 65 लाख के आसपास पहुंचने से बिजली आपूर्ति खंडित करने की मुहिम महावितरण ने शुरू की है. अब तक 17,122 ग्राहकों की बिजली आपूर्ति खंडित की गई है. महावितरण ने 358 ग्राहकों की बिजली आपूर्ति स्थायी रूप से खंडित की है.

    करोड़ों रुपए अब भी वसूलना बाकी

    चंद्रपुर परिमंडल में अब भी घरेलू ग्राहकों से 69 करोड़ 22 लाख आना शेष है. वाणिज्यिक ग्राहकों से 12 करोड़ 26 लाख रुपए, औद्योगिक ग्राहकों से 9 करोड़ 75, सरकारी कार्यालय व अन्य लघु दबाव ग्राहकों से 8 करोड़, जलापूर्ति योजना के पास 4 करोड़ 17 लाख व शहरी तथा ग्रामीण स्ट्रीट लाइट के बिजली बिल का दोनों जिले के नपा व ग्रापं मिलाकर कुल 235 करोड़ रुपए आना बाकी है. 62,365 ग्राहकों ने 18 करोड़ बिजली बिल का भुगतान करने से अब बकाया 329 करोड़ 45 लाख पर आया है. महावितरण के अधिकारियों ने कहा कि बिजली बिल नहीं भरने वालों के खिलाफ कार्रवाई आगामी दिनों में तेज की जाएगी.

    भुगतान के लिए सुविधा उपलब्ध

    बल्लारपुर विभाग में 3,045 ग्राहकों की बिजली आपूर्ति खंडित की गई है. चंद्रपुर विभाग में 2,773, वरोरा विभाग में 2,149, ब्रम्हपुरी विभाग में 1,976 बकायादार ग्र्राहकों की बिजली आपूर्ति महावितरण ने खंडित की है. बिजली बिल का भुगतान करने के लिए महावितरण की ओर से ग्राहकों को आनलाइन पेमेंट, माबाइल एप, गुगल पे, पेटीएम जैसे सुविधा दी गई है.

    नेट बैंकिंग के अलावा बिजली बिल का भुगतान आनलाइन करने के लिए इसके पहले 500 रुपए से अधिक राशि लगती थी. लेकिन क्रेडिट कार्ड को छोड़कर नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड, कैश कार्ड, यूपीआई, डिजिटल वालेट के माध्यम से आनलाइन बिल का भुगतान अब नि:शुल्क कर दिया गया है. आनलाइन बिल का भुगतान करने पर 0.25 प्रश छूट दी जा रही है.

    जल्द भुगतान करें बकाएदार

    बकाएदार ग्राहकों ने समय पर त्वरित बिल का भुगतान करना चाहिए. बिल अदा नहीं करने वालों के खिलाफ महावितरण की ओर से कार्रवाई को गति दी जाएगी.

    – सुनील देशपांडे, मुख्य अभियंता, चंद्रपुर परिमंडल.